loader

अब बैंको में रोबोट देंगे वित्तीय सलाह 

Foto

व्यापार के समाचार / Business news

 


नई दिल्ली। टेक्नोलोजी के इस दौर में जहाँ  सारा काम मशीनों से किया जा रहा है, वही अब बैंको में एक ऐसी तकनीक आने जा रही है जब आपको बैंको में आदमी नहीं बल्कि रोबोट वित्तीय सलाह देंगे। वह आपके बैंक‍िंग लेन-देन से जुड़ी दुविधाओं का समाधान करेगा। दूसरी तरफ, बैंक‍िंग स्तर पर ब्लॉक चेन का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे बैंक आपके हर लेन-देन की जानकारी रख सकेंगे। ये सब तैयारी भारतीय रिजर्व बैंक कर रहा है।

 

यह भी पढ़ें- अगर हैं SBI डेबिट कार्डधारक तो यह जानकारी है आपके लिए बेहद जरूरी

 

भारतीय रिजर्व बैंक ने फिनटेक और डिजिटल बैंक‍िंग को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की है। आरबीआई की आध‍िकारिक वेबसाइट पर मौजूद इस रिपोर्ट में बैंक‍िंग को हाईटेक बनाने पर फोकस दिखता है।

केंद्रीय बैंक फाइनेंश‍ियल टेक्नोलॉजी के जरिये बैंक‍िंग व्यवस्था को सिर्फ सुरक्ष‍ित नहीं, बल्क‍ि आसान और सरल भी बनाना चाहता है। यही नहीं, ई-एग्रीगेटर के जरिये एक ही जगह पर आपको सभी बैंकों की तरफ से मिलने वाली जानकारी देने की व्यवस्था भी किये जाने की योजना है। दरअसल सरकारी बैंकों को टेक्नोलॉजी के मामले में एडवांस बनाने की खातिर भारतीय रिजर्व बैंक ने इंटर-रेग्युलेटरी वर्क‍िंग ग्रुप की स्थापना की थी। इस ग्रुप ने ड‍िज‍िटल बैंक‍िंग और फिनटेक से जुड़े सभी पक्षों को लेकर अध्ययन किया। इस कमिटी ने ही यह रिपोर्ट तैयार की है।

यह भी पढ़ें- डॉलर के सामने रुपया लुढ़का, 73 के करीब पहुंचा 

आरबीआई की इस रिपोर्ट में बैंक‍िंग सिस्टम में फिनटेक का इस्तेमाल करने पर जोर दिया गया है। इसमें मुख्य रूप से तीन चीजें शामिल की गई हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई), ब्लॉक चेन और इंटरनेट ऑफ थिंग्स।आर्ट‍िफ‍िश‍ियल इंटेलीजेंस के जरिये ग्राहकों को रोबोट की मदद से बेहतर सेवाएं मुहैया किए जाने की योजना है। इससे बैंकों की बड़ी शाखाओं में काम समय रहते हो सकेगा।

 

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति ट्रंप के व्यापार वार्ता का आधा सच... जाने पूरा मामला

 

दूसरी तरफ, ब्लॉक चेन से बैंकों के लिए काम आसान करना और तीसरी चीज के जरिये बैंकि‍ंग को आसान बनाने पर फोकस होगा।अब देखना होगा कि भारतीय रिजर्व बैंक कब इस रिपोर्ट को लागू करने की खातिर कोई अध‍िसूचना या फिर दिशा-निर्देश जारी करता है।

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी