डिजिटल खुदरा स्टोर की 50 लाख से भी अधिक होंगी स्टोर की संख्या

Foto

   

Business News/व्यापार के समाचार 

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े कारोबारी मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के ऑनलाइन खुदरा बाजार में दस्तक देने से डिजिटल खुदरा स्टोर की संख्या अभी के 15 हजार से बढ़कर 2023 तक पचास लाख से अधिक हो जाएगी। एक अमेरिकी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि देश का खुदरा बाजार करीब 700 अरब डालर का है और इनमें 90 प्रतिशत हिस्सेदारी असंगठित क्षेत्र की है, असंगठित क्षेत्र में अधिकतर इलाकों के मोहल्लों में स्थित किराना दुकानों की हिस्सेदारी है और ये किराना स्टोर अपनी प्रौद्योगिकी को उन्नत बनाना चाह रहे हैं जिससे डिजिटलीकरण में गति तेजी से आ रही है।

कई बड़ी कंपनियों को दे सकती है टक्कर 

मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज विश्व का सबसे बड़ा ऑनलाइन-टू-आफलाइन ई-वाणिज्य मंच तैयार करने पर काम कर रही है। रिलायंस कंपनी विभिन्न इलाकों में स्थित किराना दुकानों को जियो मोबाइल प्वायंट आफ सेल के जरिये अपने 4जी नेटवर्क से जोड़ने के अवसर तलाश रही है। जिसका इस्तेमाल उपभोक्ताओं को किया जाना है। 

जानकारों का यह भी मानना है कि रिलायंस इस श्रेणी में स्नैपबिज, नुक्कड़ शॉप्स और गोफ्रुगल जैसी कंपनियों को टक्कर देने वाली है। साथ ही नुक्कड़ शॉप्स की मशीनें 30 हजार रपए से 55 हजार रपए की लागत में मिल पाती हैं जबकि गोफ्रुगल के लिए 15 हजार रपए से एक लाख रपए का भुगतान करना होता है।   

यह भी पढें    चुनाव बाद माया और अखिलेश एक दूसरे को गाली देते फिरेंगे, बीजेपी 

यह भी पढें    अफगानिस्तानी न्यूज चैनल एंकर की दिनदहाड़े गोली मारकर की हत्या

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी