जानें क्यों मिर्ची के लिए परेशान है पाकिस्तान

Foto

व्यापार के समाचार/busniss news


नई दिल्ली। पकिस्तान जहां विश्व समुदाय में अलग थलग पड़ता जा रहा है, वहीं अब उसके खाने पीने की चीजों ने भी साथ छोड़ना शुरू कर दिया है। भारत में पुलवामा की घटना के बाद से लगातार उसकी परेशानी बढ़ती जा रही है। इनके खाने में शामिल होने वाली वस्तुओं में मिर्च और टमाटर के दाम तो इतने बढ़ गए हैं कि आम आदमी की खरीदने की भी हिम्मत नही है।

मीडिया में बन रही खबरों के अनुसार यहां ​मिर्ची का दाम 400 रुपये प्रति किलो के पार पहुंच गया है। टमाटर के भी हाल ठीक नहीं हैं। जम्मू में हुए पुलवामा हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान को बेचने वाली सब्जियों पर दो सौ फीसदी ड्यूटी लगा दी है। मजेदार बात यह है कि पाकिस्तान को पुलवामा की घटना के पहले बीस रुपये के करीब टमाटर मिल जाता था।

अब यही टमाटर दौ सौ रुपये होने के चलते दुकानों से गायब होने लगा है। पाकिस्तान के लोगों में मीट का चलन ज्यादा है। इसलिए यहां मिर्च की खपत भी खूब रही है। अब चार सौ रुपये किलो पार इसके दाम हो गए। उससे ज्यादा कीमत पर फल-सब्जी बेचने पर जुर्माना लगता है। पाकिस्तान में टमाटर और हरी मिर्च की सप्लाई भारत के अलावा सिंध और बलूचिस्तान प्रांत से होती है। बलूचिस्तान में बारिश के चलते भी फसल बर्बाद हुई है। पाकिस्तान की इमरान सरकार भी इन दो ​सब्जियों के दाम को लेकर परेशान है।

 

यह भी पढ़ें    पृथ्वी के सबसे अमीरों की सूची में इस नंबर पर पहुंचे मुकेश अंबानी

यह भी पढ़ें     पाकिस्तान केंद्रीय बैंक का दावा, देश वित्तीय संकट से बाहर

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी