मैगी को लेकर फिर मुसीबत में नेस्ले

Foto

 

व्यापार के समाचार 

 

लखनऊ। मैगी के पैकेट के वजन को लेकर विवाद खड़ा हो गया दरअसल, उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले मौदहा कस्बे में मैगी की जांच में पैकट में कम वजन होने पर बाट माप निरीक्षक ने नेस्ले कंपनी पर 50 हजार रुपए का जुर्माना ठोक दिया  है।

 

यह भी पढ़े: फिर अधर में बेनामी अधिनियम के तहत अभियोजन का मामला

 

 à¤¸à¤‚बंधित इमेज

 

बाट माप निरीक्षक जे.एन. मौर्या ने शुक्रवार को बताया कि उच्चाधिकारी के निर्देशानुसार एक जांच अभियान चलाया जा रहा है जिसमें पैकेट और डिब्बे में आने वाले सामान के वजन की जांच की जा रही है।  

 

 यह भी पढ़े: ट्राई ने दी 5G स्पेक्ट्रम की बिक्री को मंजूरी


गुरुवार को मौदहा कस्बे में एक दुकान से मैगी मसाला पैकेट के कवर में अंकित टोल से कम मात्रा पाई गई। मैगी मसाला नेस्ले कंपनी का द्वारा बना उत्पाद है इस वजह से उन्होंने कंपनी के प्रबंध को नोटिस भेजकर बुलाया और उपभोक्ताओं के साथ कम वजन की वस्तु देकर धोखाधड़ी करने का  आरोप लगाया और 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया।

 

यह भी पढ़े: आयातित सोलर सेल पर 25 प्रतिशत सुरक्षात्मक शुल्क

 

50 हजार की  धनराशि सरकार के खाते में जमा करा दी गई  है।  मौर्या ने बताया कि शासन ने राजस्व जमा कराने का वार्षिक लक्ष्य 13 लाख 50 हजार निर्धारित किया है जिसमे अभी तक पांच लाख 60 हजार रुपए जमा हो चुका है।

 

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी