RBI ने की रेपो रेट में कटौती, होम लोन और पर्सनल लोन पर पड़ेगा असर

Foto

Business News / व्यापार समाचार

नई दिल्ली। रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट में 25 बेसिस अंकों की कटौती की है। रेपो रेट 6.50 से घटकर 6.25 हुआ। अन्य महत्वपूर्ण दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। आरबीआई गवर्नर ने 2019-20 में विकास दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वित्त वर्ष 2018-19 का छठा द्विमासिक पॉलिसी स्टेटमेंट जारी किया है। ये मंगलवार से गुरुवार तक चली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के बाद जारी किया गया है। 

आरबीआई ने इस नई मौद्रिक नीति के तहत रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट की कटौती की है। ऐसे में अब रेपो रेट 6.50 से घटकर 6.25 फीसदी हो गया है। इसका असर होम लोन और पर्सनल लोन पर पड़ सकता है। बैंक इन लोन की ब्याज दरों को कम कर सकते हैं। 

आरबीआई ने मार्च तिमाही के लिए खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान घटाकर 2.8 प्रतिशत किया है। अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही के लिए यह अनुमान 3.2 से 3.4 प्रतिशत और वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के लिए 3.9 प्रतिशत किया है। 

आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019-20 में देश की जीडीपी वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत तक रहने का अनुमान जताया है। वित्त वर्ष 2018-19 के लिये यह अनुमान 7.2 प्रतिशत रखा गया है। 

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल, डीजल के चलते बढ़ी LPG की मांग

यह भी पढ़ें: जनवरी 2019 में GST से कुल कलेक्शन 1.02 लाख करोड़

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी