रिजर्व बैंक सुनिश्चित करेगा पर्याप्त नकदी : RBI गवर्नर

Foto

Business News / व्यापार समाचार

मुंबई। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि केंद्रीय बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि अर्थव्यवस्था के किसी भी क्षेत्र के लिये नकदी की कमी नहीं हो। रिजर्व बैंक ने प्रमुख नीतिगत ब्याज दर रेपो में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर बाजार को आश्चर्यचकित कर दिया।

मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, ‘हम लगातार नकदी की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी क्षेत्र को नकदी की कमी नहीं हो।’  चालू वित्त वर्ष में अब तक खुले बाजार में हस्तक्षेप के जरिये डाली गयी नकदी 2.36 लाख करोड़ रुपये पहुंच गयी है।

केंद्रीय बैंक ने बृहस्पतिवार को छठी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर 0.25 प्रतिशत कम कर 6.25 प्रतिशत कर दी। साथ ही मौद्रिक नीति के बारे में अपना दृष्टिकोण को भी ‘नपी-तुली कठोरता’ वाले से नरम कर ‘तटस्थ‘ कर दिया है।

रिजर्व बैंक ने खुदरा मुद्रास्फीति के अनुमान को भी कम किया है। चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के लिये खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान को कम कर 2.8 प्रतिशत किया गया है। दिसंबर, 2018 में यह 2.2 प्रतिशत रही थी। 

केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष की आखिरी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही के खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान को भी कम कर 3.2-3.4 प्रतिशत कर दिया इसके साथ ही 2019- 20 की तीसरी तिमाही के लिये मुद्रास्फीति अनुमान 3.9 प्रतिशत रखा गया है। 

यह भी पढ़ें: RBI ने की रेपो रेट में कटौती, होम लोन और पर्सनल लोन पर पड़ेगा असर

यह भी पढ़ें: चीन से आगे निकल जाएगा भारतीय अर्थव्यवस्था : रघुराम राजन

leave a reply

व्यापार के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी