loader

वीआइपी ट्रेन के टॉयलेट  में मिला 20 किलो गांजा 

Foto

क्राइम न्यूज़ ,अपराध समाचार


पटना। भारतीय रेल की महत्वपूर्ण ट्रेन राजधानी एक्सप्रेस अपराधियों के निशाने पर है। राजधानी एक्सप्रेस एक वीआईपी ट्रेन है, लेकिन पुलिस की लापरवाही के चलते  कुछ ऐसी घटनाएं सामने आई है ,जिससे यह प्रतीत हो रहा है कि अपराधी राजधानी एक्सप्रेस के निशाने पर है और अपनी अपराध की गाड़ी को आगे बढ़ाने में इस वीआईपी ट्रेन का इस्तेमाल कर रहे हैं। 

 

 यह भी पढ़ें- ट्रिपल तलाक पीड़िता पर देवर ने फेका एसिड

 

दरअसल राजधानी पटना के निकट दानापुर रेलवे स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस से गांजा बरामद किया गया है । मिली जानकारी के अनुसार राजधानी एक्सप्रेस से करीब 20 किलो गांजा बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि गांजे की कीमत करीब 3 लाख रुपये की है। 

इस घटना के सामने आने के बाद जीआरपी और आरपीएफ के होश उड़ गए हैं। अब सुरक्षा अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं। हालांकि सवाल सबसे बड़ा यह है कि हाई सिक्योरिटी ट्रेन में अपराधी अवैध गांजा की सप्लाई कैसे कर रहे थे। राजधानी एक्सप्रेस के टॉयलेट में गांजा छिपाकर रखा गया था। पुलिस चेकिंग के दौरान जीआरपी को 20 किलो गांजा ट्रेन के टॉयलेट से बरामद हुआ। गांजा बरामद होने के बाद सुरक्षा जवानों ने आस-पास सघन तलाशी और पूछताछ की लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। 

 

यह भी पढ़ें-कानपुर में हिजबुल का आतंकी गिरफ्तार

 

जीआरपी को फिलहाल जानकारी नहीं मिल पाई कि गांजा को टॉयलट में किसने छिपाया था। लेकिन तस्करी की आशंका जताई जा रही है। कोई शख्स गांजे की खेप ट्रेन से लेकर जा रहा था। हालांकि यह भी पता नहीं चल पाया है कि यह गांजा कहां ले जाया जा रहा था। शायद चेकिंग के दौरन तस्कर फरार हो गए।  इस मामले में किसी को भी हिरासत में नहीं लिया गया है। जीआरपी जवानों ने बरामद 20 किलो गांजे को दानापुर जीआरपी थाने में लाया गया और मामले की जांच में जुट गई है।

 

यह भी पढ़ें- वाराणसी: अब SI ने की आत्महत्या, छुट्टी में आए थे घर

 

फिलहाल राजधानी एक्सप्रेस में अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने का मामला पहला नहीं है। राजधानी एक्सप्रेस में क्राइम की कई घटनाएं सामने आ चुके हैं।  इससे पहले कई बार महिलाओं से छेड़खानी की घटना सामने आ चुकी है। लेकिन अब तस्करी का मामला सामने आया है। इससे वीआईपी ट्रेन की सुरक्षा पर सवाल उठ सकते हैं। 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी