62 वर्षीय फरार बाबा 13 साल बाद गिरफ्तार, आश्रम में रहती थीं कई महिलाएं

Foto

अपराध के समाचार/Crime News


मथुरा। 62 वर्षीय बाबा राधेश्याम को दिल्ली की पुलिस ने मथुरा से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी 13 सालों से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। कोर्ट ने आरोपी राधेश्याम को भगोड़ा घोषित कर दिया था। इसके बाद से पुलिस राधे को गिरफ्तार करने में जुटी हुई थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी पर हत्या का केस दर्ज था। वह बचने के लिए मथुरा में 13 सालों से बाबा का ढ़ोंग रचाकर एक आश्रम में रहता और लोगों को उपदेश बांटता था। इतना ही नहीं मथुरा स्थित नागिया खेहरिया गांव में उसके सैकड़ों भक्त भी बन चुके हैं। कई महिलाएं बाबा की इतनी बड़ी भक्त बन चुकी थीं कि आश्रम में ही दिन रात रहा करती थीं।  

 


14 दिन की रिमांड पर


आरोपी राधे बाबा को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट के समाने पेश किया। कोर्ट ने आरोपी को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। बताते चलें कि जब पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने आश्रम पहुंची थी तो कई महिला भक्तों ने इसका विरोध भी जताया था। बाबा पर आरोप है कि 2005 में मानसरोवर थाना इलाके में ​अपने दोस्त के साथ मिलकर एक शख्स को गोली मार दी थी।

 


पत्नी से अवैध संबंध


बबा के साथी का पीड़ित की पत्नी से अवैध संबध भी था। बाबा राधे का साथी तो गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद से ही राधेश्याम की तलाश में पुलिस जुटी हुई थी। किसी तरह पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी राधेश्याम मथुरा में बाबा बनकर एक गांव में आश्रम खोलकर डेरा जमाए हुए है। आरोपी पर हत्या और उसके साक्ष को मिटाने का केस दर्ज हुआ था।

 

यह भी पढ़ें...होटल में पुलिस ने मारी रेड, ऐसी हाल में मिली युवतियां की उड़ गए होश

यह भी पढ़ें...कलयुगी पिता की काली करतूत, बच्ची को लिया गोद फिर किया गंदा काम

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी