अब इस हाइटेक तरीके से क्राइम कंट्रोल करेगी पुलिस

Foto

Crime news/अपराध के समाचार

 

ग्रेटर नोएडा। यूपी में अपराधियों पर नकेल कसने के लिए अब हाईटेक योजना बनाई जा रही है। पुलिस अब हाइटेक तरीके से क्राइम कंट्रोल करेगी। अपने सूचना तंत्र को मजबूत व हाइटेक करने के लिए हर थाने में 250 डिजिटल वॉलंटिअर बनाए जाएंगे। ये वॉलंटिअर थाना स्तर पर एक वॉट्सऐप ग्रुप के माध्यम से अफवाहों को रोकने व क्राइम कंट्रोल करने के लिए काम करेंगे।

इस ग्रुप की निगरानी जनपद स्तर पर बनी मीडिया सेल के माध्यम से की जाएगी। यह कार्रवाई डीजीपी के निर्देश पर की जा रही है। हालांकि ग्रुप के माध्यम से सूचना देने पर पहचान उजागर होने का भी खतरा रहेगा।

 

यह भी पढ़ें- गणेश प्रतिमा विसर्जन यात्रा के दौरान फायरिंग, तीन घायल

 

बता दें, उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओ. पी. सिंह की योजना है कि प्रदेश के सभी 1469 थानों में 367250 डिजिटल वॉलंटिअर बनाए जाएं। जिले के 22 थानों में इस योजना के तहत 5500 डिजिटल वॉलंटिअर्स बनाए जाने हैं। हाल में डीजीपी के जिले के दौरे पर आने के बाद उनके इस मास्टर प्लान को लेकर कवायद शुरू हो गई है। थाना स्तर पर वॉलंटिअर बनाने का काम जोरों पर चल रहा है। इसके लिए डेटा एकत्र किया जा रहा है।

ऐसे बनेंगे वॉलंटिअर्स

योजना के तहत थाने स्तर पर एक वाट्सऐप ग्रुप बनाया जाएगा। इसमें सेवानिवृत्त सैनिक, पुलिस पेंशनर्स, क्षेत्र के पत्रकार, शिक्षक, प्रधानाचार्य, पूर्व या वर्तमान सभासद, ग्राम प्रधान, बीडीसी सदस्य, छात्र नेता, आशा बहू, ग्राम सचिव, वकील, डॉक्टर, कोटेदार, विशेष पुलिस अधिकारी, क्षेत्र के होमगार्ड समेत 250 लोग शामिल होंगे। इस ग्रुप के एडमिन थानाध्यक्ष और क्षेत्राधिकारी रहेंगे। इसमें अपर पुलिस अधीक्षक और मीडिया सेल के सीयूजी नंबरों को भी जोड़ा जाएगा।

 

यह भी पढ़ें- DM दफ्तर में होमगार्ड जवान पर गड़ासे से हमला

 

ऐसे करेंगे काम

सूचना देने के एवज में वॉलंटिअर्स को कोई मानदेय नहीं दिया जाएगा। स्थानीय स्तर पर किसी भी प्रकार की अफवाह फैलने पर या पुलिस का पक्ष रखने के लिए जनपदीय मीडिया सेल सभी थानों के वॉट्सऐप ग्रुप में सही सूचनाओं से लोगों को अवगत कराएगा। सोशल मीडिया के जरिए भी अफवाह का खंडन किया जाएगा। आकस्मिक घटना होने पर यूपी-100 पर सूचना दी जाएगी।

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी