ट्रेन में 72 घंटे तक पड़ा रहा व्यापारी का शव , अनजान बने रहे रेलवे कर्मचारी 

Foto

 क्राइम न्यूज़, अपराध समाचार, CRIME NEWS,

रेलवे की बहुत बड़ी लापरवाही सामने आयी है। एक व्यक्ति की ट्रैन के वाश रूम में संदिग्ध मौत हो गई , शव तीन दिन तक वही पड़ा रहा। तीसरे दिन इसकी जानकारी रेलवे को हुई तो हड़कंप मच गया। 

जूही आनंदपुरी निवासी संजय अग्रवाल कारोबारी थे। 24 मई को आगरा जाने के लिए कोटा पटना एक्सप्रेस में संजय अग्रवाल सवार हुय और रास्ते में पत्नी को फोन पर सूचना दी की उनकी तबियत खराब हो रही है और उसके बाद से संपर्क टूट गया। परिजनों ने खोजबीन की,नही जानकारी पर जीआरपी कानपुर में गुमशुदगी दर्ज कराई। 3 दिन बाद ट्रेन के टॉयलेट में पटना के वाशिंग लाइन में संजय का शव मिला था। 

परिजनों ने रेलवे की लापरवाही बताते हुऐ आज हंगामा किया और सेंट्रल स्टेशन के प्लेट फॉर्म 1 पर व्यापारी नेता ज्ञानेश मिश्र के नेतृत्व में धरना दिया और नारेबाजी की। परिजनों ने लापरवाह रेलवे कर्मियों पर कार्रवाई हो, 1 करोड़ मुआवजा की मांग की है।

कानपुर के कारोबारी का शव 3 दिन तक कोटा पटना एक्सप्रेस में सफर करता रहा, रेलवे के किसी अधिकारी, कर्मचारी को भनक तक नही लगी। रेलवे अफसरों कि इतनी बड़ी लापरवाही को लेकर परिजन भड़क गये। 

 परिजन आज व्यापारियों के साथ स्टेशन पहुंचे और 1 करोड़ मुआवजा, दोषी लोगों पर कार्रवाई की मांग करते हुऐ धरने पर बैठ गये। हाथो में तख्तियां लिए परिजन, व्यापारी नारेबाजी कर रहे थे।मार्बल व्यापारी संजय अग्रवाल की मौत के मामले को लेकर व्यापारियों ने आंदोलन शुरू कर दिया। कानपुर सेंट्रल स्टेशन के एक नंबर प्लेटफार्म के बाहर व्यापारियों ने धरना दिया I व्यापारियों ने लापरवाह रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और संजय के परिजनों को एक करोड़ मुआवजा देने की भी मांग की है। 

रौशन यादव 
संवाददाता,लखनऊ

 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी