फर्जी सीएम गिरफ्तार, फर्जी हस्ताक्षर में बीजेपी विधायक पर भी आरोप

Foto

अपराध के समाचार/crime news

फहीम अख्तर

एटा/कासगंज। कासगंज पुलिस ने एक ऐसे बड़े नटवर लाल गिरोह का खुलासा किया है, जो योगी आदित्यनाथ के फर्जी हस्ताक्षर कर अधिकारियों को आदेशित करता था। इसका खुलासा एसपी अशोक कुमार शुक्ल कासगंज ने एक फर्जी सीएम योगी आदित्यनाथ को गिरफ्तार कर किया है। पुलिस गिरफ्त में आये फर्जी सीएम ने बीजेपी के सदर विधायक और अमांपुर विधायक पर दबाव बनाकर हस्ताक्षर करवाने का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस ने फर्जी सीएम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।

कासगंज पुलिस कार्यालय में आयोजित हुई प्रेसवार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने मीडिया कर्मियों को बताया कि फर्जी हस्ताक्षर करने वाला नित्यानंद मिश्रा लेखाधिकारी के रूप में मुख्य विकास अधिकारी कासगंज पर तैनात था, लेकिन इस वक्त निलबिंत चल रहा था। जिसकी गिरफ्तारी फर्रूखाबाद के मोहल्ला दुर्गा कालोनी से गिरफ्तार किया गया है।

एसपी के मुताबिक गंजडुंडवारा थाना क्षेत्र के हरिओम परमार, चंद्रभान सिंह चैहान और दिनेश चंद्र आर्य की तम्बाकू कुटान फैक्ट्री को तत्काल हटाये जाने के फर्जी हस्ताक्षर और मौहर लगाकर निर्देशित किये गए थे। छह फरवरी को महाराज सिंह लेखाकर तैनाती स्थल से हटाकर पत्नी द्वारा बीमारी का उल्लेख करते हुए उन्हें आईटीओ आफिस या फिर जिलापंचायत आफिसर स्थानांतरण करने के निर्देश दिए थे।

इस संबंध में जानकारी की गई तो पता चला कि उक्त हस्ताक्षर और मौहर फर्जी लगी हुई है। इसके खिलाफ कासगंज पटियाली गंजडुंडवारा में अभियोग दर्ज किया गया। इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने सर्विलांस टीम की मदद से फर्जी सीएम नित्यानंद मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया।

अगर गिरफ्तार हुए नित्यानंद निलंबित बाबू की माने तो उन्होंने, ऐसा कोई गलत काम नहीं किया सौर उर्जा लाइटें लगवाने के नाम पर करोड़ो रूपये का घोटाला फर्जी हस्ताक्षरो और मुहरें लगाकर किए गए हैं। गिरफ्त में आरोपी ने आरोप लगाया है कि अमांपुर विधान सभा के बीजेपी विधायक देवेन्द्र प्रताप सिंह और कासगंज के सदर विधायक भी शामिल है।

यह भी पढ़ें:   बर्खास्त पुलिस कर्मियों ने फिल्मी अंदाज में किया कोर्ट में सरेंडर

यह भी पढ़ें:    अपनी बोलेरो चोरी कर रिपोर्ट दर्ज कराना पड़ा मंहगा, गिरफ्तार 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी