पति ने विधायक से करवाया अपनी पत्नी का बलात्कार 

Foto

क्राइम न्यूज़, अपराध समाचार

नई दिल्ली।महिलओं के साथ दुष्कर्म की घटनाए थमने का नाम नहीं ले रही  हैं।  वही अगर ऐसी घटनाओं में  जन प्रतिनिधियों का नाम सामने आए तो यह बहुत ही शर्मनाक है।ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला असम के हैलाकांडी के सदर थाना क्षेत्र से सामने आया है जहाँ  एक महिला ने एआईयूडीएफ विधायक निजामुद्दीन चौधरी के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज करवाया है। एफआइआर में उसने कहा कि उसके साथ एक विधायक ने पिछले महीने दो बार बलात्‍कार किया था और इस दुष्‍कर्म में दोनों बार पीडिता के  पति ने भी उस विधायक की मदद की थी। 

 

यह भी पढ़ें -गृहमंत्री के भतीजे ने शादी  का झांसा देकर किया रेप,युवती बनी बेटी की माँ 

 

जांच में जुटी हैलाकांडी सदर थाने की पुलिस ने आरोपी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। प्राथमिकी में महिला ने पुलिस को बताया है कि विधायक ने पहली बार 19 मई को हैलाकांडी सर्किट हाउस में और उसके चार दिन बाद 23 मई को उसके घर पर उसके साथ दुष्‍कर्म किया। इतना ही नहीं महिला का कहना है कि दोनों ही मौकों पर उसके पति ने विधायक का सहयोग किया था। पुलिस ने इस आशय का एफआइआर शुक्रवार को दर्ज किया है।

 

यह भी पढ़ें -कानपुर : गंगा में नहाने गये पांच बच्चों कि डूबने से मौत,दो शव बरामद  


बता दें कि अल्गापूर्व के विधायक ने अपने ऊपर लगे आरोपों को झूठा बताया है।उन्होंने कहा कि उनके ऊपर लगाये गये सभी आरोप पूरी तरह से आधारहीन है। यह उनके खिलाफ किसी की साजिश का हिस्‍सा लगता है। लेकिन विधायक ने  यह स्वीकार की वह महिला से पहले मिल चुका है। उसने कहा कि महिला ने अपनी पारिवारिक समस्या सुलझाने के लिए अपने पति के साथ उससे मिलने आई थी। इसके अलावा उसका इस मामले से और कोई लेना-देना नहीं है।

 

हैलाकांडी पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी सुरजीत चौधरी ने बताया कि महिला का दावा है कि विधायक उसे अपने साथ जबरन गुवाहाटी ले जाना चाहता था, लेकिन जब उसने आत्‍महत्‍या की धमकी दी तो उसने उसे छोड़ दिया।इसके अलावा उक्‍त महिला ने अपने पति पर यह आरोप लगाया कि उसके पति ने उसे घर में कैद कर लिया था। वह उसे घर से बाहर नहीं जाने दे रहा था। इस वजह से वह पहले पुलिस में शिकायत नहीं दर्ज करा पाई।

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी