जब एसएसपी बन प्रभारी से मांगा पांच हजार, मचा हड़कंप

Foto

अपराध के समाचार/crime news


आगरा। अधिकारियों के नाम पर रुपए ऐंठने का पुराना स्टाइल रुकने का नाम नहीं ले रहा है। कुछ इसी तरह के अंदाज में एसएसपी बनकर थाना प्रभारी से पांच हजार रुपए खाते में मंगाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जब इस सच्चाई की पोल खुली तो थाना पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। फोन करने वाले आरोपी के खिलाफ पुलिस मामला दर्ज कर गिरफ्तारी में जुट गई है। 


खबरों के मुताबिक इटावा जिले के बड़ापुरा थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह को ठगों ने निशाना बनाने की कोशिश की। ठग गैंग ने थाना प्रभारी को फोन कर खुद को एसएसपी अमित पाठक बताते हुए पांच हजार रुपए अकाउंट में डालने का आदेश दिया। लेकिन प्रभारी को इस पर शक हो गया और तत्काल आगरा एसएसपी को फोन कर बात की। इस पर एसएसपी क्राइम ने इसे फर्जी बताते हुए मुकदर्मा दज कर कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने यह भी कहा कि उनके नाम का दुरुपयोग कर इस तरह का काम किया जा रहा है।


ठगों ने  थाना प्रभारी को फोन कर झांसा देने की कोशिश किया कि क्राइम ब्रांच की टीम एक गैंग को पकड़ने वाली है। टीम अभी रास्ते में ही है, लेकिन गाड़ी में पेट्रोल खत्म हो गया है। इसलिए टीम नहीं आ पा रही है। इसके बाद अकाउंट नंबर देकर पांच हजार रुपए डालने को कहा। थाना प्रभारी को एसएसपी की आवाज नहीं लगने पर शक हो गया। इसके बाद सीधे एसएसपी अमित पाठक जी को फोन कर पूछ लिया। जिससे ठगों की पोल खुल गई।

एसएसपी ने कहा कि जिलों में कोई ऐसा गैंग सक्रिय है, जो उनके नाम का हवाला देकर पुलिस को ठगने की कोशिश कर रहा है। उन्होने पुलिस अफसरों को सतर्क रहने को कहा है। इसके साथ ही पत्र सभी जिलों को पत्र भेजते हुए अलर्ट भी किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी का नाम नितिन और रहने वाला बुलंदशहर का है। वह इसकी तरह के कारनामों को अंजाम देता है। इस आरोप में पांच बार पहले भी जेल जा चुका है। 

बताते चलें कि इससे पहले सैफई थाना प्रभारी को क्राइम ब्रांच आगरा का एसआई अरुण कुमार शर्मा बताकर ठगों ने निशाना बना लिया था। उसने भी यही कहा था कि एसएसपी अमित पाठक जी बात करेंगे। इसके बाद मुखबिर से बात करने को कहा, जिस पर उसने पांच हजार खाते में मंगा लिया था। इसी तरह एसओ ऊसराहार को भी ठगों ने शिकार बनाने की कोशिश की थी। लेकिन ठग अपने मंसूबों में नाकाम रहे थे। 

 

यह भी पढ़ें:   पुलिस ने नही सुनी तो रात में किसान ने कर दिया डीजीपी को फोन

यह भी पढ़ें:      शेल्टर होम से जुड़े अन्य सभी 17 मामलों की जांच सीबीआई को

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी