प्राचार्य बना हैवान, छात्रों को मुर्गा बनाकर किया गंदा काम

Foto

अपराध के समाचार/crime news


 

सुरेश दिवाकर

रामपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां महिला सुरक्षा और बाल अपराधों को लेकर संजीदा हैं। वहीं, यूपी की सत्ता संभालने के बाद सीएम योगी ने भी इनकी रोकथाम को लेकर सख्त कदम उठाये हैं। लेकिन बावजूद इसके इस तरह की घटनायें रुकने का नाम नहीं ले रही है। जिले में बाल अपराध को लेकर कुछ इस तरह की ही तस्वीरें कैमरे में उस समय कैद हो गयी जब एक निजी प्रधानाध्यापक द्वारा स्कूली बच्चो को बतौर सजा के मुर्गा बनाया गया। यही नहीं उसने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए बच्चो को डंडे से जमकर मारा पीटा भी। 


क्या है मामला


जानकारी के मुताबिक चमरव्वा कस्बे में नेशनल पब्लिक इण्टर कॉलेज है। यहां प्रधानाध्यापक राजेश सक्सेना की अगुवाई में बाल अपराध सरंक्षण कानून की खुलेआम धज्जिया उड़ाई जा रही हैं। सरफिरे प्रधानाध्यापक द्वारा स्कूली बच्चों की जमकर पिटाई करने के साथ ही मुर्गा बनाने की चर्चायें तेज हो गई है। लेकिन प्रधानाध्यापक की करतूतों भरी लाइव तस्वीरें सामने आने के बाद भी उस पर किसी तरह का सख्त एक्शन नहीं लिया गया है। आरोप है कि प्रधानाध्यापक पहले तो स्कूली बच्चों को मुर्गा बनाने की सजा सुनाता है, फिर जमकर डंडे से पिटाई भी करता है। 


प्रधानाध्यापक राजेश सक्सेना से जब मीडिया ने स्कूली बच्चों की पिटाई और मुर्गा बनाने को लेकर सवाल किया तो इसे गलत बताया। दोहरे चरित्र के इस अध्यापक ने बाल सरंक्षण कानून तो तोड़ने के साथ मनवता को भी शर्मसार करके रख दिया है। 

 

क्या कहते हैं अधिकारी


एसडीएम और कार्यवाहक जिला प्रोवेशन अधिकारी आर के गुप्ता के मुताबिक नेशनल पब्लिक इंटर कॉलेज चमरव्वा में स्कूली स्टाफ द्वारा बच्चो को मुर्गा बनाने के साथ ही पीटने का मामला संज्ञान में आया है। घटना की जानकारी मिलते ही टीम का गठन कर मामले की जांच की जा रही है। इस मामले में दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा। 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी