ATS इंस्पेक्टर ने दिया इस्तीफ़ा,आईजी ATS पर लगाए गंभीर आरोप

Foto

क्राइम न्यूज़ /अपराध समाचार/crime news 

लखनऊ।उत्तर प्रदेश के  एटीएस विभाग कम तैनात अधिकारी राजेश साहनी की संदिग्ध मौत के बाद विभाग में द्वन्द उत्पन्न हो गया है। ATS के आईजी और उनके सहकर्मियो से परेशान होकर एक इंस्पेक्टर यतीन्द्र शर्मा ने डीजीपी ओपी सिंह को अपना इस्तीफा भेज दिया है। इंस्पेक्टर यतीन्द्र शर्मा ने आरोप लगाते हुए बताया है कि ASP राजेश साहनी आईजी असीम अरुण के शोषण से परेशान चल रहे थे जिस वजह से उन्होंने ऐसा कदम उठाया।

इंस्पेक्टर यतीन्द्र शर्मा ने इस्तीफे में लिखा है कि वह आईजी के तानाशाही रवैये से परेशान होकर अपना इस्तीफा दे रहे हैं। नौकरी छोड़ने के बाद यदि उनके साथ कोई अनहोनी होती है, तो इसके लिए असीम अरुण और उनके निकटस्थ अधिकारी जिम्मेदार होंगे। ATS इंस्पेक्टर के इस इस्तीफे के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है।

वही राजेश साहनी के निधन के बाद हुई पीपीएस एसोसिएशन मीटिंग में कई फैसले लिए गए हैं। मीटिंग में राजेश साहनी को गोली लगने के बाद तुरंत अस्पताल नहीं ले जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई है। इसके साथ ही छुट्टी से ऑफिस बुलाए गए साहनी को ड्यूटी पर माने जाने की बात कही गई है।

पीपीएस एसोसिएशन ने सीबीआई जांच की मांग की थी। इस पर आलाधिकारियों के साथ बैठक में विचार के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई जांच का फैसला लिया है।इससे संबंधित आज एक प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेज दिया जाएगा।साहनी के मोबाइल से छेड़छाड़ की आशंका के बीच जांच की बात कही जा रही है।

राजेश साहनी के परिजनों से एसोसिएशन ने बात करके उनके एफआईआर दर्ज कराने का सुझाव दिया है।आज परिजन लखनऊ में केस दर्ज करा सकते हैं।इसके साथ ही सभी PPS अधिकारी पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देंगे।इसमें CO 3000 रुपये और ASP 5000 रुपये परिजनों को सहायता राशि के रूप में 5 जून तक देंगे।

बताते चलें कि राजेश साहनी की मौत के चौबीस घंटे के भीतर ही मौत पर गंभीर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। लोगों के मन मे उठ रहे सवालों की झलक साहनी के अंतिम संस्कार में आए लोगों के चेहरे पर साफ नजर आया। सबके जहन मे एक ही सवाल कि बेहद शांत और सुलझे दिल वाले राजेश साहनी आखिर आत्महत्या क्यों की?
 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी