वकील राजेश श्रीवास्तव के हत्यारे चढ़े पुलिस के हत्थे, अतिक्रमण हटवाने के चलते कि थी ह्त्या  

Foto

 क्राइम न्यूज़/अपराध समाचार /crime news 
 
लखनऊ।यूपी के इलाहाबाद  में बीते दिनों दिनदहाड़े हुई वकील राजेश श्रीवास्तव हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने चार अभियुक्तों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।एडीजी कानून एवं व्यवस्था ने बताया कि पुलिस ने प्रतागपढ़ से शूटर को गिरफ्तार किया है।वहीं उसके तीन अन्य साथियों को गिरफ्तार किया है।जबकि दो आरोपी मौके से फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।पुलिस के अनुसार राजेश श्रीवास्तव की हत्या होटल मालिक प्रदीप जायसवाल ने सुपारी देकर अतिक्रमण को लेकर हुए विवाद के बाद करवाई थी।

एडीजी एलओ आनंद कुमार ने कहा कि 10 मई को कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास कचहरी जा रहे अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी।हत्या से नाराज वकीलों ने पहले सड़क पर शव रखकर जाम लगाया और कचहरी में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर जमकर नारेबाजी कर बवाल काटा। साथी वकील की हत्या से नाराज वकीलों ने एक बोलेरो गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया था।

बदमाशों ने वकील को उस वक्त गोली मारी थी जब वो रोज की तरह जनपद न्यायालय जा रहे थे। गोली लगने से घायल वकील को जब तक उनके साथी हॉस्पिटल ले जाते उनकी मौत हो चुकी थी।एडीजी ने बताया कि जिला के मनमोहन पार्क के पास हत्या करने के लिए शूटर विशाल और रईस गए थे। इसमें रईस बाइक चला रहा था, जबकि विशाल ने राजेश पर गोली चलाई। हत्या करने के बाद दोनों फरार हो गए थे।

 पूछताछ में पता चला कि राजेश श्रीावस्तव एक होटल के अवैध अतिक्रमण के खिलाफ पैरवी कर रहे थे। इसको लेकर होटल मालिक प्रदीप जायसवाल ने राजेश की हत्या की सुपारी दी। पुलिस ने प्रदीप जायसवाल की शूटरों से मुलाकात करवाने वाले बिचौलिए शमशाद को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि क्राउन प्लाजा होटल के मालिक प्रदीप जायसवाल ही हत्याकांड का फाइनेंसर था। जेल में बंद प्रदीप जायसवाल के करीबी घनश्याम अग्रहरि और अंजनी लाल श्रीवास्तव ने शूटर जुटाए थे। शूटर विशाल छोटा राजन और श्लोक पंडित का करीबी रहा है। अंजनी लाल श्रीवास्तव ने ही शमशाद के जरिए शूटरों को तीन लाख की सुपारी दी थी।

3 दिन की लगातार कोशिश करने के बाद राजेश श्रीवास्तव को गोली मारी गई थी।राजेश श्रीवास्तव के घर के बाहर शमशाद मुखबिरी कर रहा था। इस हत्याकांड 6 लोग शामिल हैं, इनमें से 4 को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि दो लोग फरार हैं, जिनकी तलाश में पुलिस जुटी है।

इस हत्याकांड के चौबीस घंटे बाद ही योगी सरकार ने बढ़ते अपराध पर रोक लगाने में नाकाम एसएसपी आकाश कुलहरि को हटा दिया गया था। उनकी जगह नितिन तिवारी को इलाहाबाद का नया एसएसपी बनाया गया है। यही नहीं योगी सरकार ने मृतक के परिजनों को 20 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया था। फिलहाल पुलिस पकड़े गए अभियुक्तों के खिलाफ आगे की विधिक कार्रवाई कर रही है।
 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी