किसान ने माँगा गन्ना बकाया, मिली मौत

Foto

क्राइम न्यूज़ /अपराध समाचार/ CRIME NEWS

 

लखनऊ। पीएम नरेंद्र मोदी की उत्तर प्रदेश के बागपत में होने वाली रैली से एक दिन पहले धरने पर बैठे एक किसान की मौत ने बागपत प्रशासन कि बड़ी लापरवाही कि पोल खोल दी है। गन्ना भुगतान सहित विभिन्न मांगों को लेकर पिछले कई दिनों से गन्ना किसान बड़ौत तहसील में धरने पर बैठे हैं, लेकिन अधिकारियों ने धरने पर आकर किसानों से बात करना भी उचित नहीं समझा।किसानों की जब मांग पूरी नहीं हुई तो उन्होंने अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। इसी दौरान भीषण गर्मी में धरने पर बैठे जिमाना के एक किसान उदयवीर की हालत बिगड़नी शुरू हो गई और कल उसने दम तोड़ दिया।

गन्ना किसान उदयवीर की मौत से नाराज किसानों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर हंगामा किया और शव नहीं उठने दिया और किसान की भी हालत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। किसानो ने  सख्त आंदोलन की चेतावनी दी है।किसानों ने कहा कि प्रशासन ने बात नहीं मानी तो वह भी जान दे देंगे। चेतावनी के बाद बागपत प्रशासन हडकंप मच गया है, क्योंकि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बागपत में ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने आ रहे है और यहां एक रैली को भी संबोधित करेंगे।किसानों का साफ कहना है कि सरकार उनकी परेशानी सुन नहीं रही है और किसान बुरे हालात में है।ध्यान रहे की बागपत से सटे कैराना लोकसभा सीट पर कल वोट डाले जाएंगे।

इस मामले में बागपत के प्रभारी मंत्री डॉ एसपी बघेल ने कहा कि मौत होने पर पूरे परिवार पर असर पड़ता है।किसानों की कुछ ऐसी मांगे है जो निचले स्तर पर दूर नहीं की जा सकती, लेकिन इस मुद्दे  पर वो मुख्यमंत्री से बात करेंगे। वहीं विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं।

 मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किसान कि मौत पर प्रदेश सरकार पर साधा निशाना 

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, ''बड़ौत में बिजली के बढ़े दाम व गन्ने के बकाया भुगतान के विरोध में धरने पर बैठे व महोबा, हमीरपुर, बांदा में कर्ज माफ़ी के झूठे वादे के मारे किसानों की मौत, आज कामयाबी गिना रही सरकार का सच बयां कर रही है।खेती, कारोबार, उद्योग व सौहार्द को मारने वाली सरकार का आज से काउंटडाउन शुरू,'' समाजवादी पार्टी (एसपी) ने मृतक किसान के परिवार को 5 लाख रुपये देने का वादा किया है।

आरएलडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी, एमएलसी वीरेंद्र गुर्जर, एमएलसी संजय लाठर, पूर्व विधायक वीरपाल राठी, पूर्व विधायक अजय कुमार, पूर्व विधायक गजेंद्र मुन्ना आदि किसानों के बीच पहुंचे।आरएलडी नेता जयंती चौधरी ने ट्वीट कर कहा, ''जिमाना गांव के उदयवीर, गन्ना बकाया और बढ़े बिजली बिल के विरोध में क्षेत्र के किसानों के साथ 5 दिन से बड़ौत तहसील पर धरने पर थे।आज लड़ते लड़ते उनका धरनास्थल पर निधन हो गया।किसान इस सरकार को सबक़ सिखाएगा!''
 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी