सोहराबुद्दीन मुठभेड़ केस: डीजी वंजारा समेत 5 पुलिसकर्मी को मिली राहत

Foto

Crime news/अपराध के समाचार

 

मुम्बई। सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने विवादास्पद अधिकारी डीजी वंजारा समेत गुजरात और राजस्थान के पांच वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को बड़ी राहत दी है। हाईकोर्ट ने निचली अदालत के उस फैसले को बरकरार रखा, जिसमें उन पांचों आरोपियों को बरी कर दिया गया था।

 

यह भी पढ़ें- बिटकॉइन मामले में बीजेपी का पूर्व विधायक  गिरफ्तार 

 

बता दें, निचली अदालत ने पहले गुजरात एटीएस प्रमुख डीजी वंजारा, गुजरात के आईपीएस अधिकारी राजकुमार पांडियन, एनके अमीन, राजस्थान के आईपीएस अधिकारी दिनेश एमएन और पुलिस कांस्टेबल दलपत सिंह राठौड़ को बरी कर दिया था।

सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले में इन पुलिस अधिकारियों को निचली अदालत ने बरी कर दिया था। लोअर कोर्ट के इस फैसले को बॉम्बे हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी।

आरोपी पुलिस अधिकारियों की मिली राहत को कायम रखते हुए, उच्च न्यायालय ने गुजरात के आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल को भी बरी कर दिया, जिसे बरी किए जाने की याचिका निचली अदालत ने पहले खारिज कर दी थी।

 

यह भी पढ़ें- लखनऊ में नकली नोट छापने वाले दो युवक गिरफ्तार  

 

दरअसल,यह मामला सोहराबुद्दीन शेख और उसकी पत्नी कौसर बी की फर्जी मुठभेड़ के नाम पर हत्या किए जाने से जुड़ा है। सोहराबुद्दीन और उसकी पत्नी को मुठभेड़ में मार गिराने के बाद गुजरात पुलिस ने दावा किया था कि शेख दंपति के आतंकवादियों से संबंध थे।

 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी