तड़पकर मर गया युवक,तमाशा देखते रहे लोग

Foto

अपराध के समाचार/ Crime News

 

मुरादाबाद में फिर शर्मसार हुई इंसानियत

 मुरादाबाद। पाकबड़ा थाना क्षेत्र में एन एच 24  पर हुए एक सड़क हादसे के बाद समाज की सवेंदनहीनता सामने आई है। इसमें कार से टक्कर लगने के बाद सड़क पर तड़पते स्कूटी सवार युवक को उठाने के बजाय आस-पास खड़े लोग तमाशबीन बनकर खड़े रहे। जबकि घटनास्थल पर मौजूद वाहन चालक अपने वाहन लेकर भागते नजर आएं। हादसे का शिकार युवक की बहन अपने भाई को अकेले उठाने की कोशिश करती रही। लेकिन फिर भी किसी ने आगे बढ़कर मदद करने की जहमत नहीं उठाई। इलाज के अभाव में घायल युवक ने अपनी बहन की आंखों के सामने ही दम तोड़ दिया। सीसीटीवी में कैद इन तस्वीरों को देखकर आपका दिल भी पसीज जाएगा।
  
बीच सड़क पर टक्कर लगने के बाद बेसुध पड़ा युवक, आस-पास से वाहन लेकर भागते वाहन चालक, सड़क किनारे खड़े लोग और भाई को उठाने की कोशिश करती एक बहन। ये तस्वीरें समाज की अंत होती संवेदना को व्यक्त करने के लिए काफी है। कानूनी झमेले में फंसने से बचने का बहाना बनाने वालों को इन तस्वीरों में भले ही कुछ अलग ना दिखे लेकिन बीच सड़क पर तड़फ-तड़फ कर हुई इस एक मौत ने एक परिवार की अंतहीन उम्मीदों का भी जनाजा उठा दिया। साथ ही उस भरोसे का भी जो इंसान से इंसान को जोड़ने के लिए इंसानियत जैसे शब्दों की परिभाषाएं लिखता हो।

 

 ये भी पढ़ें: आ गए ढ़ोगी बाबाओं के बुरे दिन

 

शहर के मझोला थाना क्षेत्र के  मिलन विहार में रहने वाली नेहा की शादी परिजनों ने पाकबाड़ा थाना क्षेत्र के बागड़पुर गांव में की थी। गर्मियों की छुट्टियां शुरू हुई तो नेहा के पिता अनिल कुमार ने अपने बेटे जितेंद्र को नेहा के ससुराल जाकर उसको मायके लाने के लिए भेज दिया। जितेंद्र स्कूटी लेकर नेहा को बुलाने गया लेकिन सामान ज्यादा होने के चलते उसने नेहा और उसके बेटे को ऑटो में बैठा दिया और खुद स्कूटी लेकर ऑटो के पीछे चलने लगा।

पाकबाड़ा थाना क्षेत्र स्थित तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के सामने अचानक ही जितेंद्र की स्कूटी को कार ने पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर लगने के बाद जितेंद्र सड़क पर गिर गया और कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया। हादसे में अपने इकलौते भाई को खोने वाली नेहा काफी गहरे सदमे में है।

नेहा के मुताबिक कार एक नाबालिग युवक चला रहा था जिसकी उम्र सोलह साल से कम थी और कार में नाबालिग चालक के पिता भी थे जो इलाज के लिए मुरादाबाद आ रहे थे। मृतक जितेंद्र के पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात कार चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है लेकिन नेहा पुलिस की कार्यशैली से काफी हताश है।

 

ये भी पढ़ें: भारत ने दी चेतावनी कहा, हद में रहे पाकिस्तान 

 

नाबालिग कार चालक के खिलाफ कार्रवाई ना होने से नाराज नेहा का आरोप है कि पुलिस ने ही कार चालक को मौके से भगाया और अब नाबालिग कार चालक के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय बहानेबाजी की जा रही है। नेहा का गुस्सा उन लोगों के लिए भी है जो घटना के वक्त मौके पर मौजूद थे। लेकिन मदद के बजाय दूर खड़े होकर सिर्फ मौत का तमाशा देख रहे थे। हादसे में नेहा ने अपना भाई खोया है लेकिन तस्वीरों से शर्मसार हुई इंसानियत ने कई लोगों का भरोसा तोड़ा है।

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी