ठग बाबा ने नौकरी दिलाने के नाम पर भक्तों से की ठगी

Foto

अपराध के समाचार/crime news

उबैद खान

हरदोई। यूपी के हरदोई में एक मंदिर के पुजारी ने अपने शिष्यों को लाखों का चूना लगाया है। मंदिर का पुजारी रेलवे विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर अपने शिष्यों को लाखों का चूना लगाकर फरार हो गया। आस्था के नाम पर जुड़े लोगों को मूर्ख बना कर फरार होने वाले बाबा की शिकायत लेकर अब उसके शिष्य पुलिस के पास पहुंचे। शिष्यों का आरोप है कि बाबा अपनी शिष्या के साथ लाखों की ठगी कर फरार हो गया। पुलिस ने शिष्यों की शिकायत पर आरोपी बाबा और उसकी शिष्यों के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर लिया है और गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी है।

 

कोतवाली शहर इलाके के न्यू सिविल लाइन के रहने वाले शिवेंद्र राठौर हिमांशु पांडे और शिवांशु पांडेय का आरोप है कि कोतवाली देहात इलाके के बढेयन पुरवा के रहने वाले मनोज कुमार शर्मा एक मंदिर पर पुजारी था। आस्था के नाम पर वह लोग उसके साथ जुड़े थे और उन्होंने उसको अपना गुरु बना लिया था। मनीष कुमार शर्मा और उसकी साथी दिव्या सिंह ने रेलवे और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर इन तीनों के साथ ही इनके साथी नितेश पाल से भी नौकरी दिलाने की एवज में 10-10 लाख रुपए की ठगी कर ली।

अक्टूबर माह में इन लोगों ने बाबा मनीष कुमार शर्मा को रुपया दिया था। लेकिन उसके बाद बाबा ने फर्जी जॉइनिंग लेटर थमा दिया। जब इन्हें बाबा की हकीकत का पता चला तो रुपयों की मांग करने पर बाबा ने साफ इंकार कर दिया। महिला मित्र के साथ बाबा ठगी कर फरार हो गया। 


आरोप है कि कोतवाली देहात इलाके के बढ़ईयनपुरवा निवासी मनीष कुमार शर्मा उर्फ बाबा जो कि पिहानी चुंगी पर स्थित नीम करौरी बाबा के मंदिर में पुजारी हैं। लंबे वक्त से वहां पूजा कर रहा है। जिसके बाद लोगों की आस्था भगवान के साथ साथ बाबा से भी जुड़ गई। वक्त बीतता गया और फिर बाबा की एक चेली भी बाबा के शरण में आ गई। बाबा उसे शिष्य बताते थे। लेकिन इससे शिष्य के आने के बाद बाबा की रासलीला ऐसी शुरू हुई कि उसने अपने भक्तों को कंगाल बना डाला।

 


शिकायत होने के बाद जब हमने इस खबर की तफ्तीश की तो हम जा पहुंचे नीम करोली बाबा के मंदिर। जहां पहले तो हमारी स्थानीय लोगों से मुलाकात हुई। पता चला कि बाबा लंबे वक्त से इस मंदिर में पुजारी थे। सबकुछ बेहतर चल रहा था। लेकिन फिर बाबा की शिष्य दिव्या सिंह आ गई और उसके बाद बाबा का दिव्य नेत्र जो खुला तो फिर रासलीला की ऐसी शुरुआत हुई। बाबा ने लोगों का 50 लाख रुपए हजम कर लिया। बताया जाता है कि बाबा के बड़े बड़े लोग मुरीद थे।


मंदिर प्रांगण में मनीष शर्मा उर्फ ढोंगी बाबा का दूध से रुद्राभिषेक कराया जाता था। स्थानीय लोगों से बातचीत के बाद हमने बाबा के बारे में और जानना चाहा तो पता चला बाबा कोई बहुत ज्यादा उम्र दराज व्यक्ति नहीं बल्कि 25 से 30 साल की उम्र का एक युवक है। उसके बाद पता चला कि कुछ ही दूरी पर बाबा का मकान भी है। जहां उनका परिवार रहता है। बाबा की मां सुशीला से मुलाकात हुई तो उन्होंने बताया कि मनीष बचपन से ही आस्था में लीन है। उस उस पर बाबा नीम करोली का वास होता है। लिहाजा बड़े बड़े भक्त उस की शरण में आते हैं। पिछले 1 हफ्ते से घर से गायब है। वह खुद को लखनऊ जाने की बात कह कर निकला था। लेकिन तब से वह नहीं आया। 

 

 

यह भी पढ़ें:    प्रेमिका ने पति के साथ मिलकर प्रेमी की कर दी हत्या

यह भी पढ़ें:   पेड़ से टकरायी बरातियों से भरी बुलेरो,आठ की मौत

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी