उन्नाव रेप केस-यूनुस का हुआ पोस्टमार्टम, शव को फिर से दफनाया

Foto

क्राइम न्यूज़ ,अपराध समाचार 

 

उन्नाव। उन्नाव गैगरेप कांड में कथित गवाह यूनुस खान के शव को पुलिस ने शनिवार को आधी रात  कब्र से निकाला और पोस्टमार्टम कराने के बाद फिर से शव को कब्र में दफन करा दिया। यूनुस खान सीबीआई का प्रमुख गवाह था। इससे पहले पुलिस जब यूनुस का शव कब्र से निकलवाने माखी गांव पहुंची तो यूनुस के परिजनों ने इसका जोरदार विरोध किया, पुलिस काफी मशक्कत के बाद शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम करा सकी। यूनुस की मौत पर संशय पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा।

 

यह भी पढ़ें -कुत्ते के साथ दुष्कर्म का प्रयास असफल होने पर  प्राइवेट पार्ट में डाला रॉड,...

 

उन्नाव बहुचर्चित रेप मामले में पीडि़ता के चाचा ने आरोप लगाया था कि यूनुस खान सीबीआई का मुख्य गवाह है। उसकी १८ अगस्त को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई और पोस्टमार्टम कराए बिना ही शव को दफना दिया गया। वहीं जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि सीबीआई गवाह की हत्या कर दी गई इसमें साजिश की बू आ रही है। इसके बाद प्रशासनिक अमले में भूचाल आ गया। हरकत में आए प्रशासन ने शासन के निर्देश पर यूनुस खान के शव का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया।

 

यह भी पढ़ें -एसपी के सामने रोई छात्राएं, शोहदे तंग करते है पुलिस नहीं करती मदद

 

पुलिस की टीम यूनुस के गांव माखी पहुंची और शव को कब्र से निकलवाने के लिए परिजनों से बातचीत की लेकिन परिजन नहीं माने। इस मामले की जांच कर रहे सीओ विवेक रंजन राय ने कहा कि वे परिजनों को समझाने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन वह पोस्टमार्टम कराने को तैयार नहीं थे। पुलिस और प्रशासन शनिवार को पूरे दिन पोस्टमार्टम के लिए परिजनों को मनाने में लगा रहा लेकिन यूनुस की पत्नी और भाइयों ने पोस्टमार्टम कराने से साफ इंकार कर दिया।

 

यह भी पढ़ें -सीआरपीएफ कैंप में चली एक-47, कांस्‍टेबल की मौत


इसके बाद देर रात को एसपी हरीश कुमार हो, एडीएम बीएन यादव ने शहर काजी और अन्य मुस्लिम धर्मगुरुओं की मदद ली और भारी पुलिस फोर्स के साथ बलपूर्वक कब्र को खुदवाकर शव को बाहर निकलवाया। करीब रात को साढ़ नौ बजे शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय लाया गया। पुलिस द्वारा कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद डाक्टर तन्मय कक्कड़ के नेतृत्व में डाक्टर तपन गुप्ता और डाक्टर सिद्धार्थ के पैनल में वीडियोग्राफी के सामने शव का पोस्टमार्टम किया गया। इस दौरान पुलिस विभाग और प्रशासन के आला अफसर मौजूद रहे। रात दो बजे पोस्टमार्टम के बाद यूनुस के शव को दोबारा उसके गांव माखी ले जाकर कब्र में दफना दिया गया। गांव में किसी तरह का कोई तनाव ना हो इसके लिए फोर्स तैनात की गई है।

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी