यूपी-उत्तराखण्ड में जहरीली शराब का कहर जारी,92 के पार पंहुची मरने वालों की संख्या

Foto

अपराध के समाचार/crime news

चार दर्जन से अधिक लोग अस्पतालों में भर्ती

लखनऊ। यूपी के सहारनपुर  और उसी से सटे हुए उत्तराखण्ड के रुड़की में जहरीली शराब का ताण्डव थमने का नाम नही ले रहा है,शनिवार को शराब के कहर से जान गंवाने वालों की संख्या 92 के पार पंहुच गयी जबकि चार दर्जन लोग अभी भी अस्पतालों में जिन्दगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं।

यूपी में जहरीली शराब के ताण्डव के बाद विपक्ष प्रदेश की योगी सरकार पर भी हमलावर हो गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सहारनपुर के देवबंद,नागल व गागलहेड़ी के कई गांवों में देर रात तक 44 लोग दम तोड़ चुके थे। शनिवार को यह संख्या 62 के पार पंहुच गयी। करीब चार दर्जन सेअधिक लोग अभी भी अस्पतालों में भर्ती हैं जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

वहीं मेरठ मेडिकल कालेज में भर्ती कई लोगों की हालत भी नाजुक बतायी जा रही है। वहीं रूड़की के झबरेड़ा व भगवानपुर थाना क्षेत्र के कई गांवों में जहरीली शराब के कारण 24 लोगों की मौत हो चुकी है। जहरीली शराब के कहर पर सख्त हुई योगी सरकार के निर्देशों के बाद नागल थाना प्रभारी समेत दस पुलिसकर्मियों के अलावा आबकारी विभाग के तीन इंस्पेक्टरों व दो कांस्टेबिलों को सस्पेंड कर दिया गया है।

उत्तराखण्ड सरकार ने भी कार्यवाई शुरु करते हुए रूड़की के आबकारी निरीक्षक समेत 13 अधिकारियों को सस्पेंड करने के साथ ही मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिये हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरिद्वार के एसएसपी ने झबरेड़ा थाने के एसओ,एक चौकी प्रभारी व एक कांस्टेबिल को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया है।

जहरीली शराब का मामला तूल पकड़ने के साथ ही राजधानी में भी पुलिस हरतक में आ गयी है मोहनलालगंज में पुलिस ने अभियान चलाकर कई अवैध शराब की भट्टियां ध्वस्त करने के साथ सैकड़ों लीटर कच्ची शराब नष्ट की। पुलिस ने कई आरोपियों को गिरफ्तार भी किया है। राजधानी के एसएसपी कलानिधी नैथानी का कहना है कि सभी थाना प्रभारियों को इसक ेखिलाफ अभियान चलाने के निर्देश दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें:   नौकरी का दिया झांसा, रेप के बाद वीडियो बनाकर ब्लैकमेल

यह भी पढ़ें:   शिक्षक की पिटाई से छात्र का फटा कान

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी