पूरे गांव के सामने जब पिता बना हैवान

Foto

 

अपराध के समाचार 

 

 

नई दिल्ली।  बेटी की लव मैरिज पर एक बाप इतना गन्दा कर सकता है यकीन नहीं होता लेकिन एक बाप ने पूरे गांव के सामने ऐसा पाप कर डाला जिसकी कल्पना भी किसी ने नही की होगी ।  यह हैरान कर देने वाली घटना मध्यप्रदेश के एक छोटे से गांव की है जो जिला अलीराजपुर में पड़ता है।

 

यह भी पढ़े: प्रेम विवाह की सजाः युवक के परिवार को गांव से निकाला

 

जानकारी के मुताबिक बेटी ने गांव में ही प्रेम विवाह कर लिया था जिससे नाराज होकर पिता और उसके भाइयों ने अपनी बेटी और दामाद को बंधक बना लिया। इसके बाद उनके साथ जो किया गया वो जानकर किसी की भी रूह कांप उठेगी। दोनों को पहले खूब मारा -पीटा गया। जब मन इतने से भी नहीं भरा तो उन्होंने बेटी को सबके सामने अर्धनग्न कर दिया। बेटी के प्रेम विवाह को शर्मनाक काम कहने वाले पिता को तब यह हरकत शायद शर्मनाक महसूस नहीं लगी होगी।

 

संबंधित इमेज

 

इतना ही नहीं उन्होंने लड़की के बाल काट डाले और फिर सारी हदों को पार करते हुए दोनों को मूत्र पिलाया गया। यह घटना 25 जुलाई की है। पुलिस के सामने जब ये मामला पहुंचा तो वह भी हैरान रह गए। मामला दर्ज कर इस सिलसिले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके बाद उन्हें न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।  

 

यह भी पढ़े: प्रेमिका को सरप्राइज गिफ्ट देने के चक्कर में आशिक पंहुचा जेल में

 

पुलिस के अनुसार हरदासपुर गांव में तकरीबन डेढ़ साल पहले सरपंच दुरबाई केरमसिंह की पुत्री नानकीबाई (19) ने गांव के 21 वर्षीय हितेश नामक लड़के से भाग कर प्रेम विवाह कर लिया। दोनों के खिलाफ परंपरानुसार पंचायत बैठी इसके बाद पति-पत्नी मजदूरी करने गुजरात चले गए। बीती 24 जुलाई को वो दोनों गांव लौटे और खाना खाकर चाचा राधुसिंह के घर पर सोने चले गए। 

 

यह भी पढ़े: लखनऊ: सप्रू मार्ग स्थित एसएसपी के बंगले के सामने से भागा था खूनी लुटेरा

 

25 जुलाई को सुबह करीब चार बजे लड़की के पिता केरम सिंह पुत्र जुवानसिंह अपने कुछ भाइयों और उनके बच्चों के साथ बंदूक लेकर आ धमके और नानकी व उसके पति हितेश को गाली-गलौज करते हुए अपने घर ले गए। पहले सबने मिलकर हितेश को खंभे से बांध दिया और फिर उसके साथ मार पीट की।

उन्होंने नानकीबाई को अर्धनग्न कर पिटाई की और उसके बाल काट दिए। इतने पर भी आरोपितों का गुस्सा शांत नहीं हुआ तो उन्होंने बेटी-दामाद को मूत्र भी पिलाया। बाद में उन्होंने दोनों को यह कहते हुए छोड़ दिया कि उन्होंने अपनी इज्जत जाने का बदला ले लिया है। बाद में सूचना मिलने पर मौक पर पुलिस पहुंची तो दोनों को कैद से छुड़ाया गया।

 

यह भी पढ़े: ‘गेहूं की पोटली में नोट’ और ‘भूसे के ढेर में चांदी की मूर्तियां’....

 

पीड़िता नानकीबाई ने बताया कि आदिवासी परंपरा के अनुसार प्रेम विवाह के बदले वधुमूल्य के रूप में 70 हजार रुपए और दो बकरे दे दिए थे। इसके बावजूद मेरे मायके वालों ने मारपीट कर पेशाब पिलाई। हितेश ने बताया कि परम्परानुसार समझौता होने के बाद उम्मीद नहीं थी कि उनके साथ ऐसा बर्ताव होगा। पुलिस अधीक्षक एसपी विपुल श्रीवास्तव के अनुसार दोनो आरोपि दिनेश और मालसिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।  

 

 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी