दो समुदायों में पानी के विवाद में भड़की हिंसा,जल उठा औरंगाबाद 

Foto

                             क्राइमन्यूज़/अपराध समाचार/crime news 

नई दिल्ली।औरंगाबाद में देर रात दो समुदायों  के बीच हिंसा की आग भड़क उठी।जिसमे कई जख्मी हुए हैं।महाराष्ट्र के औरंगाबाद के पुराने इलाके में देर रात भड़की हिंसा में अभी भी तनाव की स्थिति बनी हुई है।हिंसा के दौरान पुलिस को स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस को गोलियां चलानी पड़ीं।हिंसा में अब तक एक व्यक्ति की मौत की पुस्टि हुई है।हिंसा में अभी तक 15 पुलिसकर्मियों सहित 25 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

हिंसा के बाद औरंगाबाद के  IG मिलिंद भारांबे ने बताया की हिंसा में अभी तक एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि की है।पुलिस ने दंगाइयों पर काबू पाने के लिए गोलीबारी की,जिसमें एक बच्चा भी घायल हुआ है।शुक्रवार को एक झगड़े ने दोनों समुदायों के बीच हिंसक झड़प का रूप ले लिया,जिसके बाद दंगा शहर के गांधीनगर, राजाबाजार और शाहगंज इलाकों में भी फैल गया। 

ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इतेहदुल मुसलिमीन(AIMIM) के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्विटर पर औरंगाबाद हिंसा की जांच की मांग की है।हिंसा भड़काने में रच्चू पहलवान नाम के शख्स की भूमिका की जांच की मांग की है और इलाके में शांति स्थापित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजने के अपील भी की है। 

पुलिस ने बताया की,शुक्रवार देर रात से ही रह-रहकर हिंसक झड़पें जारी हैं और प्रभावित इलाकों में दोनों समुदायों के लोगों ने जमकर पत्थरबाजी की और दुकानों में आगजनी की।औरंगाबाद के पुराने हिस्से में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दी गई है और धारा 144 लागू कर दी गई है।पुलिस का कहना है की अभी तक हिंसा के कारणों का पता नहीं चल पाया है।पुलिस आशंका जाता रही है की अवैध रूप से लगाई गई पानी की पाइप लाइन काटने में भेदभाव के चलते यह झगड़ा शुरू हुआ।वहीं व्यावसायिक वर्चस्व की बात भी सामने आ रही है।फिलहाल शहर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात है और तनाव जैसी स्थिति अभी तक बनी हुई है। 

leave a reply

क्राइम-अपराध 

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी