जानिये शनि देव को तेल चढाने की पौराणिक कथा

Foto

धर्म की खबरें/ religion News

 

डेस्क।  शनिदेव की महिमा का जितना बखान किया जाए कम है। शनि देव की कृपा जिन भी भक्तों पर होती है, उसके सभी बिगड़े काम बन जाते हैं। शनिवार के दिन भगवान शनि की पूजा अर्चना का विशेष महत्व होता है। इस दिन शनि भगवान को तेल चढ़ाने की मान्यता है। हम आपको बता रहे हैं कि तेल क्यों चढ़ाया जाता है। 

 

 

रावण ने बनाया था बंदी

 

पौराणिक कथाओं में वर्णन किया गया है कि जब अहंकार में चूर रावन ने अपने शक्ति से सभी ग्रहों को बंदी बना लिया था। इन्ही ग्रहों में शनिदेव भी थे। अत्याचारी रावण ने शनि को बंदी बनाकर कारागार में उल्टा लटका दिया गया था। इस वजह से वह भयंकर दर्द से पीड़ित हुए थे। इसके बाद प्रभू हनुमान जी ने शनि देव के शरीर में तेल से मालिश की थी। जिसके कारण उनको भयंकर दर्द से राहत मिली।  शनि देव ने प्रसन्न होकर कहा था कि जो भी भक्त श्रद्धा से उन पर तेल चढ़ाएगा मैं उनकी सारी पीड़ा हर लूंगा और उनको हर समस्या से मुक्ति मिलेगी। तब से शनि देव पर तेल चढाने की परंपरा शुरू हो गई जो आज भी चलन में है।

 

शनि देव का अहंकार

 

कहा जाता है कि, शनि देव को अपनी बल और पराक्रम पर घमंड हो गया था। शनि देव ये बात मानने को तैयार नहीं थे कि संसार में उनसे ज्यादा कोई और भी बलवान है। उन्होंने हनुमान जी के बल और साहस के बारे में सुना तो वह अपने घमंड में चूर होकर युद्ध करने निकल पड़े। शनिदेव ने देखा कि हनुमान जी भगवान श्री राम कि तपस्या में लींन बैठे थे। शनि ने बजरंग बली को युद्ध के लिए ललकारा।हनुमान जी ने उनको समझाने का बहुत प्रयास किया पर अंकार में चूर होने के कारण वह नहीं माने।

 

 

युद्ध के बाद ज्ञान

 

आखरी में वो युद्ध के लिए तैयार हुए और दोनों के बीच तेज़ी से युद्ध हुआ। जिसमे हनुमान जी ने शनि देव पर खूब प्रहार किये और शनि देव कि हार हुई। युद्ध के दौरान हनुमान जी द्वारा किये गए प्रहारों से शनि देव के शरीर पे गहरे घाव भी बन गए। जिसके कारण वो भयंकर पीड़ा में थे। ये देखकर हनुमान जी ने उनको तेल लगाने के लिए दिया जिससे उनके सभी घाव मिट गए और उन्हें दर्द से राहत मिली। तभी शनि देव ने कहा जो मनुष्य उनको तेल चढ़ाएगा मैं उनकी सारी पीड़ा हर लूंगा। हनुमान जी से युद्ध के बाद शनि देव का अहंकार चूर हो गया और ज्ञान भी हुआ। 

 

यह भी पढ़ें...देवोत्थानी एकादशी पर करना है भगवान विष्णु को प्रसन्न तो करें ये उपाय

 

यह भी पढ़ें...लखपति बनना है तो कीजिये ये उपाय और वो भी रविवार और सोमवार

leave a reply

सांस्कृतिक

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी