massiar-banner

अब यूपी बोर्ड के छात्रों को पढ़ाई जाएगी वैदिक गणित

Foto

शिक्षा

 

नई दिल्ली |  देश के सबसे बड़े परीक्षा बोर्ड में शुमार यूपी बोर्ड में अब वैदिक गणित पढ़ाई जाएगी। इसके लिए बोर्ड की ओर से सिलेबस पर काम लगभग पूरा हो गया है और जल्द ही बाजार में इसकी किताबें भी आ जाएंगी। अगले सत्र से स्कूलों में इसे लागू कर दिया जाएगा। यह प्रस्ताव विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान की ओर से बोर्ड को भेजा गया था जिस पर बोर्ड ने सहमति जता दी है। 

 

विद्या भारती की ओर से सोमवार को एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। इसमें संस्थान के महामंत्री ललित बिहारी गोस्वामी ने बताया कि हमारी शिक्षा राष्ट्र केंद्रित नहीं है, इसमें पश्चिमी सभ्यता की छाप है। इसको दूर करने और अपनी शिक्षा को देश केंद्रित बनाने के लिए बोर्ड को 32 बिंदुओं का प्रस्ताव भेजा था। इसमें वैदिक गणित को बोर्ड ने स्वीकृत कर लिया है।
 

इसके अलावा इतिहास को सही तरीके से प्रस्तुत करने और कई ऐसे योद्धाओं की गाथाएं जो अब तक शामिल नहीं हैं, उन्हें शामिल करने का भी प्रस्ताव है। अब अगले सत्र में जितने बदलाव हो जाएंगे, उसके बाद संस्थान फिर से अन्य बदलावों को लागू करने के लिए प्रयास करेगा। गणित के शिक्षक डीके सिंह ने बताया कि वैदिक गणित में संस्कृत के सूत्रों से गणित के सूत्रों को पढ़ाया जाता है। 

 

उन्‍होंने बताया कि इससे कैलकुलेशन काफी आसान हो जाता है। बारह साल पहले भी इसे शुरू किया गया था लेकिन एक दो साल में ही इसे बंद कर दिया गया। हालांकि, अब तक इसका कोई सिलेबस और किताबें नहीं आईं हैं। विद्या भारती की ओर से मंगलवार से राष्ट्रीय खेलकूद समारोह की शुरुआत होगी। प्रेस वार्ता में पूर्वी यूपी के संगठन मंत्री डोमेश्वर साहू ने बताया कि यह समारोह तीन दिन चलेगा, इसमें सभी प्रदेशों से 785 खिलाड़ी शामिल होंगे।

 

यह भी पढ़ें :  पाना चाहते हैं सरकारी नौकरी तो अपनाएं ये आसान टिप्स

 

यह भी पढ़ें : छात्रों का ब्यौरा अपलोड करने में लापरवाही बरत रहे ये कॉलेज

 

 

leave a reply

शिक्षा

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी