डीएम का चला डंडा, नालंदा पब्लिक स्कूल पर लगाया जुर्माना

Foto

Education news/शिक्षा के समाचार 

उबैद खान

हरदोई। जिला स्तरीय समिति गठन अभिभावक संघ व प्रधानाचार्य से जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बातचीत की। जिसमें समय समय पर मिलने वाली शिकायत के सम्बन्ध में समिति के माध्यम से बैठक कर जानकारी ली गई। इसी सम्बन्ध मे शाहाबाद ब्लॉक के नालंदा पब्लिक स्कूल उधरनपुर द्वारा फीस स्ट्रक्चर, कोर्स सम्बन्धी शिकायत पर तीन बैठकों मे एक बार भी कोई जानकारी न देने पर जिला स्तरीय समिति ने सर्वसम्मति से 25 हजार का जुर्माना लगाया। ज्ञात हो कि इससे पहले लिखित में एक विशेष दुकान से बाल विद्या भवन द्वारा कोर्स खरीदने के दबाव पर समिति ने 1 लाख का जुर्माना लगाया था। 

उप्र स्ववित्त पोषित स्वतंत्र विद्यालय शुल्क विनियम समिति बैठक जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक वीके दूबे ने बताया कि अभी तक नालन्दा पब्लिक स्कूल उधरनपुर, शाहाबाद द्वारा फीस सम्बन्धी विवरण उपलब्ध नही कराया गया है और इसके लिए स्कूल को दो नाटिस जारी की जा चुकी है। इस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए समिति की सहमति से स्कूल पर 25 हजार रूपए जुर्माना लगाने के निर्देश दिये।

डीएम ने कहा कि जब तक उक्त विद्यालय द्वारा फीस सम्बन्धी समस्त जानकारी नहीं दी जाती और जुर्माने की धनराशि जमा नहीं की जायेगी वह विद्यालय के बच्चों से फीस जमा नहीं करायेगें। बैठक में नगर मजिस्ट्रेट गजेन्द्र कुमार ने बताया कि बाल विद्या भवन पर एक लाख रूपये का जुर्माना किया गया था। जिसे विद्यालय प्रबन्धन द्वारा अभी तक जमा नहीं किया गया है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि उन्हें 15 दिन में जुर्माने की धनराशि जमा करने हेतु नोटिस जारी कि जाये और अगर निर्धारत समय में जुर्माना न जमा करने पर अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। बैठक में समिति के सदस्य  वीरेन्द्र चैधरी, वित्त लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा योगेन्द्र पाण्डे, एडवोकेट विजय मोहन बाजपेई, प्रधानाचार्य महार्षि विद्यामंदिर कोर्रिया, अवधेश प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:सीबीएसई: छात्रा ऐश्वर्या ने दूसरा स्थान लाकर रचा इतिहास

यह भी पढ़ें:सीबीएसई: श्रेया ने दूसरा स्थान प्राप्त कर नाम किया रोशन, IAS बनने का सपना

leave a reply

शिक्षा

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी