LU में उढ़ाई जा रही हैं पढाई की धज्जियाँ....

Foto

शिक्षा के समाचार / Education News

लखनऊ : शिक्षा का मंदिर कहा और माना जाने वाला लखनऊ विवि अपने प्रशासन की लापरवाहियों के चलते अक्सर चर्चा का विषय बन जाता हैं । लविवि ने अपनी शैक्षिक स्तर में सुधार लाने के लिए सेमेस्टर सिस्टम शुरू किया था । लविवि का दावा था की इसके लिए पठन पाठन तय किया जायेगा । मगर प्रशासन की खस्ता हालत के चलते लविवि का यह प्लान कुछ ख़ास कारगर साबित ना हो सका ।

 

यह भी पढ़े : घटता जलस्तर बना शामली के लोगों की चिंता का कारण

 

स्थिति यह हैं की शिक्षक अपने काम-काज से दूर हैं । विवि के कुछ डिपार्टमेंट ऐसे हैं जहाँ ना तो शिक्षक मौजूद रहते हैं और ना छात्र। विवि में शिक्षक अपने काम से नदारद रहते हैं ऐसे में क्लास लेने की ज़िम्मेदारी रिसर्च स्कॉलर की होती हैं ।

 

यह भी पढ़े : अमेरिका करेगा भारत-ईरान चाबहार डील की समीक्षा

 

बता दें ,छात्रों की माने तो उनका कहना हैं की उनसे मेस की फीस तो जमा करा ली गयी हैं पर उन्हें मेस से खाना नहीं मिलता । सिर्फ इतना ही नहीं , छात्रों ने आगे बताया की जबतक उनलोगों ने मेस फीस नहीं दी थी तब तक विवि प्रशासन ने उनका परीक्षा परिणाम भी रोके रखा था।

 

यह भी पढ़े : NSG सदस्यता की राह में भारत के लिए बाधक है चीन- अमेरिका

leave a reply

शिक्षा

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी