केंद्र ने बढ़ाई PhD छात्रों की फेलोशिप की राशि

Foto

Education News / शिक्षा समाचार

नई दिल्ली। केंद्र ने इस साल पहली जनवरी से पीएचडी छात्रों और अन्य शोधकर्ताओं के लिए फेलोशिप की राशि बढ़ा दी है। इसमें भौतिक और रसायन विज्ञान, इंजीनियरिंग, गणित, कृषि विज्ञान, जीव विज्ञान और फार्मेसी सहित विज्ञान और प्रौद्योगिकी के किसी भी क्षेत्र में नामांकित छात्र और शोधकर्ता शामिल हैं। 

फेलोशिप में बढ़ोतरी से 60 हजार से अधिक शोधकर्ताओं को सीधे लाभ होगा। इससे राज्यों को भी अपनी फेलोशिप की राशि बढ़ाने का आधार मिलेगा। पहले दो वर्षों में कनिष्ठ शोधकर्ताओं की फेलोशिप 25 हजार रुपये से बढ़ाकर 31 हजार रुपये और वरिष्ठ शोधकर्ताओं को 28 हजार रुपये की जगह अब 35 हजार रुपये प्रतिमाह मिलेंगे। 

इसके अलावा अनुसंधान और विकास परियोजनाओं में अनुसंधान सहयोगी के रूप में काम कर रहे वैज्ञानिकों के मानदेय में भी 30 से 35 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। उच्च श्रेणी के रिसर्च एसोशिएट के लिए मानदेय 54 हजार रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है। 

सरकार के इस फैसले से शोध के क्षेत्र में काम कर रहे करीब दो लाख शोधार्थियों को सीधा फायदा मिलेगा। पिछले कुछ समय से वह फेलोशिप में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर आंदोलित थे। इसे लेकर इन छात्रों ने हाल ही में दिल्ली में भी बड़ा प्रदर्शन किया था। हालांकि उनकी मांग फेलोशिप में 80 फीसदी बढ़ोत्तरी की थी जबकि यह बढ़ोत्तरी 35 फीसदी तक ही की गई थी। फेलोशिप में बढ़ोत्तरी 2014 से पहले 2010, 2007 और 2006 में भी की गई थी।

यह भी पढ़ें: प्राथमिक स्कूलों में 69 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती, परीक्षा कार्यक्रम जारी 

यह भी पढ़ें: बड़ा फैसला : दो साल में लाखों भर्ती करेगा रेलवे

leave a reply

शिक्षा

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी