शिक्षकों की भ्रष्टाचार के भेंट चढ़ रहे प्राथमिक विद्यालय

Foto

शिक्षा के समाचार/Education news

प्रदीप मिश्रा

गोरखपुर। शहर के दक्षिण में स्थित गोला तहसील के अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय में ताले लटक रहे हैं। विद्यालय के शिक्षकों को न ही बच्चों के भविष्य की चिंता है और न ही शासन और प्रशासन की डर। जब शिक्षकों का मन होता हैं, विद्यालय आएंगे नहीं तो आराम फरमाएंगे। यह हाल सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद का है। 

बता दें कि विकासखंड उरुवा के दक्षिण में स्थित प्राथमिक विद्यालय बढ़या बुजुर्ग का है। यहां शिक्षकों का मनमाना रवैया इस तरह है कि ना समय से विद्यालय खुलता है और ना ही समय से बंद होता है। ऐसे में जब आज विद्यालय प्रांगण में 8:30 बजे देखा गया तो विद्यालय में ताला लटक रहा था। इसकी सूचना बीएसए को दी गई जिन्होंने फौरन मामले को गंभीरता से लेते हुए संकुल प्रभारी कपिल मुनी गुप्ता को दी। 

बीएसए का निर्देश मिलते ही प्रभारी मौके का जायजा लेने सुबह 9 बजे विद्यालय प्रांगण पहुंचे। प्राथमिक विद्यालय पर ताला लटकता देखते ही स्तब्ध हो गए। संकुल प्रभारी ने इस मामले को बेसिक शिक्षा अधिकारी गोरखपुर को अवगत कराया। बता दें इस विद्यालय के प्रधानाचार्य प्रकाश त्रिपाठी, सहायक अध्यापक विश्वनाथ यादव, शिक्षामित्र शफीक अहमद, सुशीला देवी आदि अनुपस्थित मिले। अब देखना है कि प्रशासन इन अध्यापकों पर क्या कार्यवाही करती है, या फिर मिलीभगत करके मामले को दबा दिया जाता है। इस मौके पर ग्राम प्रधान हरिनारायण संकुल प्रभारी एवं नगवा प्राथमिक विद्यालय की शिक्षक उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: यूपी बोर्ड परीक्षा के नतीजे जल्द घोषित होंगे। 

यह भी पढ़ें: प्राइवेट स्कूलों के ठेंगे पर डीएम का आदेश         

leave a reply

शिक्षा

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी