एशियाड 2018 : अमित पंघल ने ओलंपियन को किया चित्त, जीता गोल्ड

Foto

Sports News / खेल समाचार

नई दिल्ली। भारतीय बॉक्सर अमित पंघल ने पुरुषों के 49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता है। बॉक्सर अमित ने ओलंपिक चैंपियन हसनबॉय दुस्मातोव को मात देकर यह पदक अपने नाम किया। इसके साथ ही एशियाई खेल 2018 में भारत के नाम 14 स्वर्ण पदक हो गए है। 22 वर्षीया बॉक्सर अमित पंघल ने सेमीफाइनल में फिलीपिंस के पालम कार्लो को 3—2 से मात देकर फाइनल में अपनी जगह बनाई थी।

जकार्ता में चल रहे एशियाई खेल 2018 के 14वें दिन अमित पंघल और उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुसामाटोव को 3—2 से मात दी। इस जीत के साथ ही भारत ने एशियन खेलों के करीब 67 साल में नया इतिहास रचते हुए अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया। इस गोल्ड मैडल के साथ ही भारत ने कुछ 66 पदक हासिल किए है।

यह भी पढ़ें: हिटलर था जिनका दीवाना, ‘हॉकी के जादूगर’ मेजर ध्यानचंद

भारत के बॉक्सर अमित पंघल और ओलंपियन हसनबॉय दुस्मातोव के बीच रोमांचक मुकाबला हुआ। इंडियन बॉक्सर ने जिस तरह का प्रदर्शन कर फाइनल में अपनी जगह बनाई थी उसके बाद उनसे गोल्ड की ही उम्मीद थी। अमित सबकी उम्मीदों पर खरे उतरे और सोने का तमगा अपने गले में डाला। 

रिंग में अमित पंघल की शुरुआत अच्छी थी। पहले राउंड में ओपन गार्ड के साथ ​वह उतरे थे। उनके प्रतिद्वंदी भी आक्रामक थे। अमित ने हसन से एक दूरी तय कर रखी थी। यही कारण था कि ओलंपिक पदक विजेता के पंच चूक गए। एक बार हसन क्लींच के दौरान गिर भी पड़े। वहीं अमित के पंच भी मिस हुए। 

यह भी पढ़ें: घायल होने के बाद भी भारत के खिलाफ खेलना चाहता इंग्लैंड का ये खिलाड़ी 

दूसरे राउंड में अमित ने लेफ्ट जैब और राइट हुक का एक साथ इस्तेमाल किया और अंक बटोरे। हसन भी अमित के आत्मविश्वास के सामने डोलते दिखे। वह पंच लगा रहे थे लेकिन चूक रहे थे। अमित ने डिफेंस के साथ मौका पाते ही काउंटर करने की रणनीति बनाई। तीसरे राउंड में दोनों खिलाड़ियों ने आक्रामक खेल दिखाया। दोनों बाक्सरों ने कुछ अच्छे पंच लगाए और बॉडी अटैक भी किया। यह राउंड बराबरी का हुआ। अंत में पांच में से तीन रेफरियों ने अमित को विजेता माना। 

leave a reply

खेल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी