एशियाई चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने वालीं गोमती डोप टेस्ट में फेल

Foto

 

Sports/खेल

नई दिल्ली। एशियन चैम्पियनशिप की गोल्ड मेडलिस्ट भारत की गोमती मारिमुथु डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाई गई जिसके बाद उन्हें अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया। 30 साल की गोमती ने अप्रैल में दोहा में हुई एशियन चैम्पियनशिप में 800 मी रेस में 2:2:70 मिनट का समय लेकर स्वर्ण पदक जीता था। इसी चैम्पियनशिप के दौरान उनका डोप टेस्ट हुआ था।उनके ए सैंपल में स्टेरॉयड पाया गया है। अगर उनका बी सैंपल भी पॉजीटिव आया, तो उन पर चार साल का प्रतिबंध लग सकता है। उनसे उनका पदक मांगा जा सकता है।

पटियाला में 13 से 15 मार्च चले फेडरेशन कप के दौरान भी राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उनका सैंपल लिया था। उस समय भी उनके सैंपल में प्रतिबंधित दवा के अंश पाए गए थे। एक अंग्रेजी समाचार पत्र ने भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के पदाधिकारी के हवाले से लिखा, ‘गोमती का पहला टेस्ट पॉजिटिव रहा है।’

कोच जसविंदर सिंह भाटिया ने खुद को इस विवाद से अलग किया

तमिलनाडु की इस खिलाड़ी को पोलैंड के स्पाला में जारी रिले कैम्प में हिस्सा लेने के लिए उड़ान भरनी थी, लेकिन उनकी फ्लाइट रद्द कर दी गई। साथ ही उन्हें बेंगलुरु में राष्ट्रीय शिविर से भी जाने को बोल दिया गया है। उनके कोच जसविंदर सिंह भाटिया ने खुद को इस विवाद से अलग कर लिया है। भाटिया ने कहा, ‘फेडरेशन कप के बाद, गोमती शिविर के लिए चुनी गई थीं। वे कुछ समय के लिए मेरे साथ थीं, क्योंकि उन्हें 13 अप्रैल को पटियाला में ट्रायल्स के लिए जाना था, वहां से वे दोहा चली गई थीं।    

यह भी पढें  ब्रिटिश सरकार भारत से आने वाले यात्रियों के लिए लैंडिंग कार्ड भरने की अनिवार्यता की समाप्त

यह भी पढें  एग्जिट पोल के बाद लगातार दूसरे दिन बाजार में बढ़त

leave a reply

खेल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी