कोच रमेश पवार का पलटवार, कहा- 'ब्लैकमेल करना बंद करें मिताली राज'

Foto

Sports News / खेल समाचार

नई दिल्ली। टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में मिताली राज को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं देने के मामले में निशाने पर आए कोच रमेश पोवार ने अब मिताली राज के आरोपों पर पलटवार किया है। 

रमेश पवार ने मामले पर पहली बार खुलकर बात करते हुए मिताली राज पर कई आरोप लगाए है। उन्होंने मिताली राज पर टीम में फूट डालने, कोचों पर दबाव डालने और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। ये तमाम बातें रमेश पोवार ने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी और जनरल मैनेजर सबा करीम को भेजी दस पेज की अपनी रिपोर्ट में कही है।

रमेश पवार ने टीम के हर सदस्य के बारे में अपनी रिपोर्ट दी है। लेकिन उनकी आधी से ज्यादा रिपोर्ट मिताली राज पर ही केंद्रीत रही है। इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी क्रिकेटर और एकदिवसीय टीम की कप्तान मिताली राज ने टीम के कोच रमेश रमेश पवार और प्रशासकों की समिति (सीओए) की सदस्य डायना इडुल्जी पर गंभीर आरोप लगाए। मिताली राज का आरोप है कि उन्हें टीम से बाहर करने का समर्थन करने वाली इडुल्जी ने उनके खिलाफ अपने पद का फायदा उठाया है। इस संदर्भ में मिताली ने बीसीसीआई को एक चिट्ठी भी लिखी थी।

भारत महिला क्रिकेट टीम के कोच रमेश पोवार ने बीसीसीआई को बताया कि मिताली ने अपनी भूमिका की अनदेखी करते हुए निजी उप​लब्धियों के लिए बल्लेबाजी की। इस कारण उनकी बैटिंग में एक लय नहीं बन सकी। पोवार ने बताया कि पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में भी केवल चयनकर्ताओं के दबाव के कारण उनसे पारी की शुरुआत कराई गई। 

खुलासा करते हुए पोवार ने बताया कि टीम में सकारात्मक माहौल बनाए रखने के लिए टूर सेलेक्टर के दबाव के कारण हमने पाकिस्तान के खिलाफ मिताली राज से पारी की शुरुआत करायी। मिताली धमकी देती रहीं कि अगर उनसे पारी की शुरुआत नहीं कराई गई तो वह घर लौट जाएंगी। पोवार के मुताबिक पाकिस्तान के खिलाफ मैच के बाद उनका रवैया अलग ही था।

बीसीसीआई को भेजी रिपोर्ट में पोवार ने कहा कि ग्रुप में प्वाइंट्स टेबल में शीर्ष पर रहने के बाद टीम मीटिंग में बतौर सीनियर मिताली ने बमुश्किल ही कोई सुझाव दिया। वह टीम की योजना के अनुसार खुद हो ढाल नहीं सकी। उन्होंने अपने हितों के लिए उन्हें दी गई भूमिका की अनदेखी की।

रमेश पोवार ने अपने दस पेज की रिपोर्ट में मिताली राज के रवैये सहित कई बातों पर सवाल खड़े किए है। अब देखना होगा कि दोनों पक्षों को सुनने के बाद बीसीसीआई आगे क्या फैसला करती है।

यह भी पढ़ें: मिताली राज का आरोप, 'सत्ता में बैठे कुछ लोग मुझे बर्बाद करना चाहते है'

यह भी पढ़ें: हरमनप्रीत कौर की बड़ी उपलब्धि, बनीं ICC महिला विश्व T20 एकादश की कप्‍तान

leave a reply

खेल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी