पृथ्वी शॉ ने आते ही मचाया धमाल, बनें 21वीं सदी के सबसे यंग बल्लेबाज़

Foto

Sports News / खेल समाचार

राजकोट। अपने पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले पृथ्वी शॉ ने दिखा दिया कि वो लंबी रेस के घोड़े है और उनका बल्ला कई गेदबाजों की खबर लेने वाला हैं। राजकोट में भारत और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट मैच खेला जा रहा है। अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए पृथ्वी शॉ ने केवल 56 गेंदों में अपना ​अर्धशतक पूरा किया। इस दौरान उन्होंने सात चौके भी लगाए। पृथ्वी भारत की तरफ से टेस्ट खेलने वाले 293वें खिलाड़ी बने। कप्तान विराट कोहली ने पृथ्वी को  टेस्ट कैप सौंपी। 

18 साल  के पृथ्वी शॉ 21वीं शताब्दी में भारत की तरफ से टेस्ट डेब्यू करने वाले सबसे युवा खिलाड़ी है। वैसे तो भारत की तरफ से मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर टेस्ट डेब्यू करने वाले सबसे युवा खिलाड़ी है। ​सचिन ने 16 साल 205 दिन की उम्र में अपना पहला टेस्ट खेला था। 

यह भी पढ़ें: OMG ! सचिन तेंदुकर पर इस एक्ट्रेस ने लगाया संगीन आरोप, जानें पूरा मामला

पृथ्वी शॉ दूसरे सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले भारत के टेस्ट ओपनर बने है। भारत की ओर से सबसे कम उम्र में अपना पहला टेस्ट खेलने वाले सलामी बल्लेबाज विजय मेहरा थे। विजय मेहरा ने 17 साल 265 दिन मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में दिसंबर 1955 में अपने पहले टेस्ट डेब्यू किया था। इसी के साथ विजय मेहरा सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले पहले भारतीय टेस्ट ओपनर बने। 

बता दें, पृथ्वी शॉ ने अपने 14 फर्स्ट क्लास मैचों में 1418 रन बनाये है। वो 5 अर्धशतक और 7 शतक लगा चुके है। महज 18 साल में शॉ ने बेंगलुरू में साउथ अफ्रीका ए के खिलाफ शानदार शतक लगाया था। हाल ही में इंडिया ए की ओर से इंग्लैंड दौरे पर पृथ्वी शॉ ने तीन शतक ठोके थे।

पृथ्वी शॉ ने सिर्फ 14 साल की उम्र में हैरिस शील्ड ट्रॉफी में 546 रनों की पारी खेल वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला था। 17 साल की उम्र में उन्होंने फर्स्ट क्लास डेब्यू किया। इसके अलावा उन्होंने दिलीप ट्रॉफी के डेब्यू में भी शतकीय पारी खेली। 18 साल की उम्र में पृथ्वी शॉ ने अंडर 19 टीम की कप्तानी करते हुए उसे वर्ल्ड कप भी जिताया।

यह भी पढ़ें: साइना नेहवाल करने जा रही है शादी, बैडमिंटन कोर्ट से ही चुना अपना हमसफ़र

leave a reply

खेल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी