मैरी कॉम का स्वर्ण पर पंच, छह बार बनी वर्ल्ड चैंपियन

Foto

Sports News / खेल समाचार

नई दिल्ली। विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में आज पांच बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम स्वर्ण पर पंच लगाया। इसके साथ ही मैरी कॉम ने महिला विश्व मुक्केबाली चैंपियनशिप में सबसे ज्यादा छह (6) गोल्ड मेडल जीता और वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया है। मैरी कॉम कुल सात विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली महिला बॉक्सर बन गईं हैं।

पांच बार की विश्व चैम्पियन एम. सी. मैरी कॉम आज विश्व महिला मुक्केबाज़ी के फ़ाइनल में फाइनल मुकाबले में यूक्रेन की हन्ना ओखोटा से भिड़ी थी। मुकाबले में भारतीय मुक्केबाज ने यूक्रेन के मुक्केबाज को 5-0 से मात देकर विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में सबसे ज्यादा छह स्वर्ण अपने नाम कर अभूतपूर्व उप​लब्धि हासिल की।

इससे पहले मैरी ने 2002, 2005, 2006, 2008 और 2010 में स्वर्ण पदक जीता था वहीं 2001 में उन्होंने रजत पदक अपने नाम किया था।  

अनुभवी मुक्केबाज मैरी कॉम ने हाल ही में गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। उनके नाम एशियाई चैंपियनशिप में भी पांच गोल्ड और एक सिल्वर पदक है। मैरी कॉम ने मां बनने के बाद वापसी करते हुए कई अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीत का परचम लहराया।

यह भी पढ़ें: टूट गई भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विश्व विजय की उम्मीद

यह भी पढ़ें: साइना की आसान जीत, कश्यप को बहाना पड़ा पसीना

leave a reply

खेल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी