14 गांवों में 812 मरीजों को एमएमयू ने उपलब्ध कराया उपचार

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/health news

सचल अस्पताल में डाक्टर के परामर्श के साथ ही निशुल्क जांच व दवाओं का हुआ वितरण,ग्रामीणों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रहा सचल अस्पताल 

लखनऊ। थोड़े समय मे ही मोबाईल मेडिकल यूनिट( एमएमयू ) ने लोगों के बीच में खासी लोकप्रियता हासिल कर ली है, ग्रामीण काफी मात्रा में सचल अस्पताल पर आकर इस सुविधा का लाभ उठा रहे है।विभिन्न मेडिकल उपकरणों व लैब से सुसज्जित इस एमएमयू में अनुभवी डाक्टरों की देखरेख में सिर्फ लखनऊ में अब तक 812 लोगों को उपचार मौके पर ही उपलब्ध कराया गया है। इन्हे मौके पर जांच के साथ ही निशुल्क दवाएं उपलब्ध करायीं गयीं हैं। 

केएचजी हेल्थ सर्विसेस के सीईओ जितेंद्र वालिया ने बताया कि लखनऊ में संचालित एमएमयू ने माल ,बक्शी का तालाब व काकोरी ब्लाक के 14 गावों मे सीएमओं द्वारा निर्देशित स्थान पर पंहुचकर ग्रामीणों को मौके पर ही उपचार उपलब्ध कराया गया। एमएमयू स्टाफ के द्वारा माल ब्लाक के मसीढ़ारतन, आंट,दानौर सुक्खाखेड़ा,जल्लाबाद, नयी बस्ती,बुथौरा ,गगन बरौली ,विधि श्यामा, व नारू गांव बक्सी का तालाब ब्लाक के चांद कोडर तथा काकोरी ब्लाक में कुस्मौरा गांव में मरीजों को उपचार मुहैया कराया गया। इन जगहों पर ग्रामीणों ने मुख्यता बुखार,जोड़ों में दर्द ,बदन दर्द, सीने में दर्द व सांस फूलने तथा त्वचा संबधी बीमारी बतायी , जिस पर एमएमयू में मौजूद चिकित्सक द्वारा उनकी प्रारम्भिक जांच कराने के बाद मौके पर दवा उपलब्ध करा दी गयी।

ऐसे काम करती है एमएमयू-
राष्ट्रीय मोबाईल मेडिकल यूनिट (एमएमयू )एक प्रकार का सचल अस्पताल है।जिसमे डाक्टर , स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट ,लैब टेक्नीशियन व ड्राइवर मौजूद रहते है।सर्वप्रथम मरीज का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाता है उसके बाद उसमें मौजूद डाक्टर के परामर्श अनुसार लैब टेक्नीशियन द्वारा मरीज की जांच की जाती है जांच रिपोर्ट आने के पश्चात पुनः डाक्टर दवा लिखता है जो कि एमएमयू में मौजूद फार्मासिस्ट द्वारा तत्काल उपलब्ध करा दी जाती है। 

एमएमयू का कार्यक्षेत्र-
किस दिन किस गाँव मे एमएमयू को उपलब्ध रहना है ये जिले के सीएमओ द्वारा निर्धारित किया जाता है। एमएमयू का उद्देश्य सीएचसी व पीएचसी से दूरी पर स्थित गाँव तथा दूरदराज के ग्रामीणाों तक उपचार की उपलब्धता सुनिश्चित कराना है।
एमएमयू में प्रथमिक उपचार,संक्रामक रोगों की स्क्रीनिंग,बेसिक लैब टेस्ट,शुगर व ईसीजी जांच की सुविधा बिलकुल निशुल्क उपलब्ध हैं।


एमएमयू में मौजूद उपकरण-
मोबाईल मेडिकल यूनिट एमएमयू में कई उच्चस्तरीय व आधुनिक उपकरण मौजूद हैं जो इसे और भी खास बना देते है । इनमे नेब्यूलॉईजर, इलेक्ट्रिक नीडिलडिस्ट्रायर ,ईसीजी मशीन, एम्बू बैग, सेमी आटोमेटिक बायोकेमेस्ट्री एनेलाईज़र ,आटोस्कोप, टोनोमीटर, ग्लूकोमीटर, स्टेलाइज़र ,व्यू बॉक्स, ड्रेसिंग ड्रम , आपथेल्मोस्कोप ,सेंट्रीफ्यूज मशीन ,लेरिंजोस्कोप, माइक्रो टाइपिंगसेंट्रीफ्यूज, हीमोग्लोबिन मीटर आदि प्रमुख है।

एमएमयू से इलाज प्राप्त करने के बाद कुसमौरा गाँव निवासी सत्यदेव ने एमएमयू के चिकित्सक व टीम से कहा कि उन्हे हल्की फुल्की बीमारी में भी इलाज हेतु दूर चलकर जाना होता था उसके बाद वहां पर काफी इंतजार भी करना पड़ता था। पर अब उन्हे उनके दरवाजे पर ही उपचार मिल गया ,उन्होंने एमएमयू टीम की प्रशंसा करते हुए धन्यवाद भी दिया।

ग्रामीणों का कहना था कि इस चलते फिरते अस्पताल के हमारे गाँव में आने से हम लोगों में काफी खुशी है , जिसमें डाक्टर ने देख भी लिया और जांच कराने के बाद तुरन्त ही दवा भी दे दी। एमएमयू की टीम ने ग्रामीणों को 15 दिन बाद उसी स्थान पर आकर पुनः उनकी जांच करने के बारे में बताया ।

एमएमयू में प्राथमिक उपचार,संक्रामक रोगों की स्क्रीनिंग,बेसिक लैब टेस्ट,शुगर व ईसीजी जांच की सुविधा बिलकुल निशुल्क उपलब्ध हैं। राजधानी के माल व बक्शी तालाब ब्लाक में एमएमयू गाड़ी संख्या यूपी 32 एलएन 4214 में डाक्टर हसमुद्दीन,स्टाफ नर्स गरिमा,फार्मासिस्ट अनिल कुमार,लैब टेक्निशियन राजन कुमार व चालक आलोक कुमार ने ग्रामीणों तक उपचार पंहुचाने में सराहनीय भूमिका निभाई।

यह भी पढ़ें:   इस बच्चे ने किया ऐसा कि हर कोई रह गया हैरान

यह भी पढ़ें:   30 चिकित्सा शिक्षकों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्यवाई शुरु

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी