अगर आप भी चलते-फिरते हुए खाते हैं खाना तो हो जाएं सावधान, हो सकता है ये नुकसान..

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/Health news

 

आजकल हम अपनी लाइफ में इतने बिजी हो गए हैं कि, हमें खाना खाने का तक समय नहीं है। भागदौड़ भरी जिंदगी में हम कई काम को एक साथ करना चाहते हैं लेकिन वे किसी काम पर अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते जिससे उन्हें बाद में उन्हें नुकसान होता है। ऐसी समस्याएं कई लोगों को होती है। कुछ लोग तो जल्दबाजी के चक्कर में ऑफिस, स्कूल या कॉलेज जाते समय एक हाथ में बैग और एक हाथ में नाश्ता लेकर चलते-चलते हुए खाते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाइए..

आपने सुना होगा कि बड़े बुजुर्ग अक्सर आराम से बैठ कर खाना खाने की सलाह देते हैं। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि चलने-फिरने पर खून का प्रवाह प्राकृतिक रूप से अपने आप ही हमारे हाथों-पैरों की ओर मुड़ जाता है और भोजन के लिए जो पर्याप्त मात्रा में खून हमारे पाचन तंत्र को चाहिए वो नहीं पहुंच पाता। 

 

पाचन तंत्र का रक्त प्रवाह होता है ठीक

 

भारतीय संस्कृति में और आयुर्वेद के अनुसार भी ऐसा माना गया है कि भोजन जमीन पर बैठकर खाना चाहिए। इसके पीछे भी वैज्ञानिक कारण है कि बैठ जाने पर सभी मांसपेशियां सही स्थिति में आ जाती हैं और कुछ एक्यूप्रेशर बिंदु ऐसे हैं, जिनके ऊपर दबाव पड़ने से पूरे पाचन तंत्र का रक्त प्रवाह ठीक हो जाता है। 

इसलिए खाना खाते समय सिर्फ अपने भोजन पर ही ध्यान देना चाहिए, इससे हमारे स्वास्थ पर अच्छा असर पड़ता है। हमेशा आराम से बैठकर ही खाना खाएं। भागते-दौड़ते हुए खाना आपके स्वास्थ्य के लिए भारी पड़ सकता है।

 

यह भी पढ़ें-गोरखपुर: पुलिस लाइन में कैंसर से बचने के उपाय और जांच कर दी गई जानकारी

यह भी पढ़ें-इन चीजों का भूलकर भी न करें सेवन, हो सकता है ब्रेन ट्यूमर

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी