loader

अगर आप रातभर करवटें बदलते रहते हैं तो हो जाएं अलर्ट, हो सकतीं हैं ये गंभीर बीमारियां

Foto

स्वास्थ्य के समाचार

 

नींद हमारी बॉडी को स्वस्थ्य रखने और एनर्जी को बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी है। ठीक से नींद पूरी न होने की वजह से कई प्रकार की बीमारियां जैसे- डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, दिल से संबंधित रोग और मोटापे की समस्या हो सकती है। लेकिन क्या आप आनते हैं कि, आपकी सोने की आदतों के जरिए सेहत की बातें... 

 

यह भी पढ़ें- रसगुल्ला खाने से मिलती है इन बीमारियों से राहत

 

नींद के दौरान सांस लेने में दिक्कत होना

अगर आपको नींद के दौरान सांस लेने में परेशानी होती है तो ये स्लीप ऐप्निया का संकेत हो सकता है। मौजूदा दौर में लोगों में नींद से सम्बंधित बीमारी स्लीप ऐप्निया काफी बढ़ रही है और इसकी सबसे बड़ी वजह दिनचर्या का नियमित न हो पाना है। जानकारों के मुताबिक जितना संभव हो सके खाने-पीने और सोने की आदतों को नियमित करें और डॉक्टर से सलाह लेते रहें। नींद की कमी से होने वाली सबसे आम समस्या स्लीप ऐप्निया है जिसमें नींद के दौरान सांस में रुकावट पैदा होती है।

 

यह भी पढ़ें- फूट-फूट कर रोने के भी हैं फायदे, जानिए क्या है रहस्य 

 

बार-बार उठकर टॉयलेट जाना

अगर रात को आपको कई बार टॉयलेट के लिए जाना पड़ता है तो यह डायबिटीज का कारण भी हो सकता है। रात को दो से ज्यादा बार टॉयलेट जाना डायबिटीज या प्री-डायबीटीज का संकेत हो सकता है। लगातार टॉयलेट आने का कारण ब्लड में शुगर की मात्रा का बढ़ना हो सकता है। जब ब्लड में शुगर बढ़ जाता है तो यूरिन शरीर के रास्ते से इसे बाहर निकालता है।

 

यह भी पढ़ें- महिलाओं के लिए खतरनाक है हेपेटाइटिस.. जाने बचाव के उपाय

 

अचानक नींद टूट जाना

सोते हुए अचानक उठने के बाद फिर नींद न आने के पीछे संभावित कारण, रेस्टलैस लेग सिंड्रोम (मस्तिष्क सम्बंधी विकार) हो सकता है। यह विकार लगभग 3 प्रतिशत आबादी को प्रभावित करता है। अगर आपको बीच रात में साथी को लात मारने या फिर जागकर बैठ जैने की आदत है तो यह रेस्टलैस लेग सिंड्रोम हो सकता है।

करवट बदलना और धड़कन तेज होना

अगर आप रात को करवटें बदलते रहते हैं और दिल की धड़कने तेज हो जाती हैं तो यह ओवरएक्टिव थायरॉइड के कारण हो सकता है। अगर आपको लगातार रात को सोते समय अनिद्रा, तेजी से दिल धड़कने और असहजता की समस्या होती है तो यह हाइपरथायरॉडिज्म की वजह से हो सकता है।

 

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी