massiar-banner

केजीएमयू में 6 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का हुआ समापन

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/ HEALTH NEWS

 

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय में 6 दिनों का डॉक्टरों का प्रशिक्षण अभियान चलाया गया। प्रदेश के लगभग सभी जिलों से एक एक डॉक्टर को बुलाया गया था। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य आपदा के समय डॉक्टर किस तरीके से अपनी योग्यता के अनुसार लोगों की मदद कर सकें ताकि जनहानि होने से रोकी जा सके। मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने बताया कि यह प्रशिक्षण प्रथम चरण में 6 दिनों के लिए चला। जिसमें प्रदेश के 75 जिलों से डॉक्टरों ने हिस्सा लिया और प्रशिक्षण प्राप्त कर लोगों की सहायता करेंगे।

 

प्रदेश की महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रोफेसर रीता बहुगुणा जोशी ने केजीएमयू के कलाम सेंटर में आकाश में चिकित्सकों के 6 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण  कार्यक्रम के समापन के अवसर पर डॉक्टरों को संबोधित करते हुए कहा आपदा के समय प्राथमिक उपचार से बहुत सारी होने वाली घटनाओं को रोका जा सकता है। जिसके लिए आप सब लोग प्रशिक्षित होकर उत्तर प्रदेश के साथ देश में अगर कहीं आपदा या क्राइसिस जैसी गंभीर समस्या उत्पन्न होती है तो उस समय आपका यह प्रशिक्षण काम आएगा। जिससे कि आप लोगों की सहायता करने में सफल होंगे और होने वाली घटनाओं को कम किया जा सकता है। साथ ही इमरजेंसी मेडिसिन डॉक्टर के साथ खुलकर चर्चा की।

 

केजीएमयू के सीएमएस ने बताया कि जिन डॉक्टरों ने इस 6 दिन के प्रशिक्षण में हिस्सा लिया था, उनके ज्ञान के बारे में पहले पूछा गया उसके बाद प्रशीक्षण शुरु किया गया। उनको सिखाया गया कि आपातकाल में किस तरीके से समस्याओं का सामना कर हम लोगों की मदद कर सकते हैं। उसके बाद जब प्रशिक्षण खत्म हुआ तो डाक्टरों से फिर से उनके ज्ञान के बारे में पूछा गया कि कितना उन्होंने प्रशिक्षण के माध्यम से अर्जित किया तो यह प्रशिक्षण कहीं ना कहीं आपातकाल के समय बहुत कारगर साबित होगा।

 

मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने बताया कि प्रथम चरण में पुरुष डॉक्टरों को नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत 6 दिन का प्रशिक्षण दिया गया। इसके बाद अगले चरण में प्रदेश भर के महिला अस्पतालों से महिला डाक्टरों को बुलाकर उनको प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि भविष्य में होने वाले किसी भी बड़ी आपदा के लिए हमारे पास डॉक्टर्स की बिल्कुल कमी ना हो जिससे होने वाली घटनाओं को कम किया जा सके।

 

यह भी पढ़ें- पीएम के आयुष्मान योजना को केजीएमयू ने दिखाया ठेंगा

 

यह भी पढ़ें- मातृत्व सुरक्षा योजना की केजीएमयू ने उड़ाई धज्जियां ?

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी