massiar-banner

पीएम के आयुष्मान योजना को केजीएमयू ने दिखाया ठेंगा

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/political news

बारबंकी के मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने लगाया धन उगाही व अभद्रता का आरोप

लखनऊ। केजीएमयू में डाक्टरों के पीएम मोदी की आयुष्मान योजना का कार्ड नही मानने का मामला अभी थमा भी नही थाकि अब डाक्टरों के द्वारा फिर मरीज के परिजनों के साथ अभद्रता करने व शव ना देने का मामला सामने आया है। केजीएमयू प्रशासन ने हालाकि ऐसे मामले की जानकारी होने से इंकार किया है।

केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में डाक्टरों की लापवाही व अभद्रता थमने का नाम नही ले रही है,बाराबंकी से उपचार कराने आये मरीज के परिजनों का आरोप है कि डाक्टरों की लापरवाही से उनके मरीज की जान चली गयी उसके बाद भी उनसे धन उगाही की गयी और जब उन्होने इसकी शिकायत डाक्टरों से की तो उन्होने तीमारदारों के साथ अभद्रता शुरू कर दी। तीमारदारों ने जब पैसा देने से मना किया तो डॉक्टरों ने उसके साथ मारपीट की और जेल भिजवाने की धमकी तक दे डाली।

इस घटना पर केजीएमयू के सीएमएस डा.एसएन शंखवार से बात बात करने का प्रयास किया गया तो पता चला कि वो शहर से बाहर हैं। जिसके बाद ट्रामा के मीडिया प्रभारी डा.संतोष कुमार से जब संपर्क करने का प्रयास किया गया तो पता चला कि वे छुट्टी पर है। 

इस तरह की लगातार ट्रामा में लापरवाही देखने की मिलती रहती है अभी कुछ दिन पहले ही शाहजहांपुर के मरीज को मंत्री के सिफरिसी पत्र व आयुष्मान योजना का कार्ड होने के बाद निशुल्क उपचार देने से केजीएमयू के डाक्टरों ने इंकार करके पीएम के आदेशों को ही दरकिनार कर दियाा था और अब उसके बाद ये घटना दर्शाने के लिए काफी है कि केजीएमयू के डाक्टरों कर मनमानी किस कदर मरीजों व तीमारदारों पर भारी पड़ रही है।

लेकिन स्वास्थ्य विभाग इस पर कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहा है। जिससे ट्रामा में डॉक्टरों के हौसले बुलंद देखने को मिलते रहते हैं। वहीं डॉक्टर पवित्र रस्तोगी का कहना है मरीज के तीमारदारों से ट्रामा में एक मेल स्टाफ अमरेश कुमार ने अभद्रता की थी जिसको तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है साथ ही उन्होंने कहा है कि ट्रामा के सीएमएस डा.यू.वी. मिश्रा ने अभद्रता की है वो किस कंडीशन में है इसकी भी जांच करवाई जाएगी।

यह भी पढ़ें:   मातृत्व सुरक्षा योजना की केजीएमयू ने उड़ाई धज्जियां 

यह भी पढ़ें:    सरकार की साख पर लगा रहे बट्टा, डाक्टरों के ठेंगे पर सीएम के वादे

यह भी पढ़ें:    प्रसूता के लिए भगवान बनी सिविल अस्पताल की डाक्टर

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी