प्रेग्नेंट महिला का ऑपरेशन करने के बाद डॉक्टरों को पेट में नहीं मिला बच्चा, मचा हड़कंप

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/ Health news

 

भोपाल। मध्यप्रदेश के भोपाल में एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामना आया है। यहां के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने एक नौ महीने की प्रेग्नेंट महिला का ऑपरेशन कर दिया और फिर कहा इसके पेट में बच्चा ही नहीं है। महिला और उसके परिजनों का कहना है कि, डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने के पहले कहा था कि बच्चा बाईं ओर है और उसकी सांस 80 प्रतिशत चल रही है।

डॉक्टरों ने कहा था कि, बच्चे की जान को खतरा है इसलिए तुरंत ऑपरेशन करना होगा। वहीं महिला और उसके परिवार का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने उनके बच्चे को गायब कर दिया है। जबकि इस मामले पर अस्पताल का कहना है कि महिला स्यूडो प्रेग्नेंसी का शिकार थी। 

जानकारी के मुताबिक, महिला का नाम कृष्णा सोलंकी है, उसके पति प्रेम कुमार पाल सीआरपीएफ बंगरसिया में कर्मचारी हैं। वह दो जून को तेज दर्द की वजह से अस्पताल आई थी। डॉक्टरों ने बिना सोनेग्राफी किए ही उनका ऑपरेशन कर दिया। इसके करीब एक घंटे बाद प्रेम कुमार को ओटी में बुलाकर कहा कि उनकी पत्नी के पेट में बच्चा ही नहीं है। कृष्णा के परिवार ने अस्पताल में हंगामा किया और इसकी शिकायत सीआरपीएफ अधिकारियों से भी की।

ये होती है स्यूडो प्रेग्नेंसी-

डॉक्टरों के अनुसार, स्यूडो प्रेग्नेंसी में एक महिला को लगता है कि वो प्रेग्नेंट है। इस दौरान उसमें शारीरिक बदलाव भी एक प्रेग्नेंट महिला के जैसे ही होते हैं। लेकिन वो प्रेग्नेंट नहीं होती। इस मामले का पता क्लीनिकल डायग्नोसिस में चलता है। बिना सोनोग्राफी के ऑपरेशन सामान्य तौर पर नहीं किया जाता। वहीं इमरजेंसी होने पर भी क्लीनिकल डायग्नोसिस की जाती है।

 

यह भी पढ़ें-गोरखपुर: पुलिस लाइन में कैंसर से बचने के उपाय और जांच कर दी गई जानकारी

यह भी पढ़ें-ये लोग भूलकर भी न करें ऐलोवेरा का सेवन, हो सकती हैं ये बीमारी..

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी