सफल टीकाकरण के लिए संचार माध्यम का प्रयोग जरुरी:सीएमओ

Foto

स्वास्थ्य के समाचार/health news

नियमित टीकाकरण कम्युनिकेशन पर कार्यशाला सम्पन्न

लखनऊ। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय लखनऊ के सभागार में गुरुवार को नियमित टीकाकरण के संबंध में यूनिसेफ द्वारा आयोजित कम्युनिकेशन कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.नरेंद्र अग्रवाल ने किया। यह कार्यशाला यूनिसेफ़ द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के अधीक्षकों तथा नियमित टीकाकरण के नोडल अधिकारियों के लिए आयोजित की गई थी।

कार्यशाला को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.नरेंद्र अग्रवाल ने कहा की नियमित टीकाकरण को सफल बनाने के लिए प्रभावी संचार माध्यमों का प्रयोग करना बेहद जरूरी है,और इसकी योजना बनाने के लिए ही इस कार्यशाला का आयोजन किया गया है।

उन्होंने कहा कि भारत में फुल इम्यूनाइजेशन अभी भी लगभग 79 प्रतिशत है, 21 प्रतिशत के गैप को भरना बहुत जरुरी है। टीकाकरण से बच्चों के छूटने का प्रमुख कारण अभिभावकों में जानकारी का अभाव तथा सूचना ना मिलना है ।एक अन्य कारण टीको के प्रतिकूल प्रभाव ए ई एफ आई का डर भी है जिसे बेहतर संचार के द्वारा दूर किया जा सकता है।

कार्यशाला मे जनपद लखनऊ में नियमित टीकाकरण की स्थिति पर बोलते हुए जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एम के सिंह ने कहा कि नियमित  टीकाकरण को 100% करने के लिए कोल्ड चैन, लेबर रूम ,होम बेस्ड न्यू बोर्न केयर ,मातृ स्वास्थ्य निमोनिया तथा डायरिया नियंत्रण तथा पोषण एवं बाल स्वास्थ्य पोषण माह पर ध्यान देना और उसे सुदृढ़ करना बेहद जरूरी है, जिसके लिए एसएम नेट का प्रयोग करना चाहिए।

जिला स्तरीय कार्यशाला में यूनिसेफ के डॉक्टर संदीप शाही ने बताया कि एसएम नेट की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है जो समुदाय को स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर सूचना ,शिक्षा तथा संचार के द्वारा प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने कहा कि समुदाय की भागीदारी को बनाना बहुत जरूरी है जिसके लिए जनता ,निजी तथा स्वयं सेवी संस्थाओं की भागीदारी होना आवश्यक है। इस जिला स्तरीय कार्यशाला में डॉ.सौरभ अग्रवाल, डॉ.शिवा अग्रवाल, ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के अधीक्षक तथा अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारियों एवं उप मुख्य चिकित्सा अधिकारियों ने भाग लिया।

यह भी पढ़ें:   सीएमओ ने डुडौली के नगर मलेरिया कार्यालय का उद्घाटन किया !

यह भी पढ़ें:    टेली कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आधा दर्जन जिलों के मरीजों का इलाज करेगा,...

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी