विश्‍व गुर्दा दिवस : किडनी का ख्याल रखना भी ज़रूरी है

Foto

Health News / स्वास्थ्य समाचार

नई दिल्ली। आज विश्‍व गुर्दा दिवस है। यह दिन हर वर्ष मार्च के दूसरे बृहस्‍पतिवार को मनाया जाता है। इसका उद्देश्‍य गुर्दे के महत्‍व और गुर्दे की बीमारियों को रोकने के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।

इस वर्ष के विश्‍व गुर्दा दिवस का विषय है- सभी के लिए सभी जगह स्‍वस्‍थ गुर्दा। इस अवसर पर देशभर में गुर्दे  तथा मधुमेह और उच्‍च रक्‍त चाप से गुर्दे को होने वाले खतरे के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। 

गुर्दे की बीमारियों से बचाव के लिए मधुमेह को नियंत्रण में रखें और दर्द निवारक गोलियों का सेवन न करें। 

किडनी की बीमारी के लक्षण हैं कि पैरों में सूजन आ जाना, वजन कम हो जाना, भूख कम लगना, उल्‍टी आने का मन करना, ब्‍लड प्रैशर कंट्रोल न होना, हमारा खून न बढ़ना, हिमोग्‍लोबिन कम रहना, ब्‍लड प्रैशर ज्‍यादा रहना।

सबसे पहले हमने अपना ब्‍लड प्रैशर कंट्रोल करना है। ब्‍लड शुगर कंट्रोल करके रखना है। रैग्‍युलर व्‍यायाम करना है ताकि शरीर का वजन एक मात्रा में ही रहे। 

यह भी पढ़ें: 7 मार्च : देशभर में मनाया जा रहा 'जन औषधि दिवस'

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने किया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नारी शक्ति को सलाम

leave a reply

स्वास्थ्य

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी