34 सालों से कांग्रेस कर रही थी सिख दंगों के आरोपियों का बचाव : रविशंकर

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। 1984 सिख विरोधी दंगों के दोषियों को पटियाला हाउस कोर्ट ने सजा सुना दी है। इस मसले पर केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस वार्ता की। इसमें उन्होंने कोर्ट के इस फैसले पर संतोष जताया। सा​थ ही कांग्रेस पर जमकर हमला भी बोला।

​रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 1984 के नरसंहार के मामले में कल दिल्ली के न्यायालय ने दो अपराधियों में से एक को फांसी और एक को उम्र कैद की सजा सुनाई है, इस फैसले से हमें संतोष है।

आगे कांग्रेस पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्वर्गीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपने भाषण में कहा था कि जब बरगद का पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है। कांग्रेस पार्टी ने आज तक उनके इस भाषण से अपने आप को अलग नहीं किया है।

आगे कहा कि पिछले 35 साल में कांग्रेस पार्टी द्वारा योजनाबद्ध और सुनियोजित तरीके से इस बात की पूरी कोशिश की गई कि 1984 के नरसंहार के आरोपियों के खिलाफ कोई प्रमाणिक कार्रवाई नहीं हो।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इसको लेकर खेद जताया था, लेकिन माफी नहीं मांगी थी। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने इस मुद्दे पर विशेष जांच टीम (एसआईटी) बनाई थी। इस एसआईटी के कारण ही कोर्ट से जल्द फैसला आया है।

यह भी पढ़ें : सिख विरोधी दंगे के आरोपियों को सजा, एक को मौत, दूसरे को आजीवन कारावास

यह भी पढ़ें: 1984 सिख विरोधी दंगा : 34 साल बाद पहुंचा न्याय की चौखट पर

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी