32वीं जीएसटी काउंसिल बैठक : सरकार ने दिया कारोबारियों को तोहफा 

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। जीएसटी में बड़ा बदलाव कर सरकार ने कारोबारियों को तोहफा दिया। कंपोजीशन स्कीम के लिए सालाना टर्नओवर की राशि एक करोड़ से बढाकर डेढ़ करोड़ की गई। अब 20 लाख की बजाए 40 लाख टर्नओवर वाले जीएसटी के दायरे में आएंगे। उत्तर पूर्वी राज्यों के लिए ये सीमा 20 लाख हुई।

सालाना 50 लाख की सेवा देने वाले करदाताओं को कंपोजिशन स्कीम के तहत अब 6 फीसदी की दर से कर देना होगा। जीएसटी परिषद में जीएसटी पंजीकरण की सीमा को बढ़ाकर 20 से 40 लाख किया गया है।

इससे छोटे कारोबारियों को राहत मिलेगी। साथ ही एमएसएमई सेक्टर के कारोबारियों को हर तिमाही रिटर्न भरने से भी छूट दी गई है अब साल में सिर्फ एक बार ही रिटर्न दाखिल करना होगा।

हालांकि हर तिमाही अभी भी कर जमा कराना होगा। जबकि पूर्वोत्तर राज्यों में इस सीमा को बढ़ाकर 10 लाख से 20 लाख कर दिया गया है। परिषद ने ये भी निर्णय लिया कि केरल को दो साल तक 1 फीसदी आपदा उपकर संग्रह करने का अधिकार होगा। जिससे राज्य को प्राकृतिक आपदा से निपटने में मदद मिलेगी।

परिषद ने निर्माणाधीन मकानों और फ्लैटों पर जीएसटी की दर घटाने का फैसला टाल दिया है और इसे एक 7 मंत्रियों की एक कमेटी को बना दी गई है। 

यह भी पढ़ें: आतंकवाद को बर्दाश्त ना करना है समय की मांग : सुषमा स्वराज

यह भी पढ़ें: अब हर गरीब का आरक्षण पर अधिकार

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी