आरुषि हत्याकांड : इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर सुनवाई को सुप्रीम को राजी

Foto

India News / भारत के समाचार


इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तलवार दम्पति को ​कर दिया था बरी


इसी फैसले के खिलाफ सीबीआई ने दाखिल की थी याचिका


नई दिल्ली। बहुचर्चित आरुषि हत्याकांड में आरोपी राजेश व नूपुर तलवार को बरी किए जाने के इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्णय के खिलाफ दायर याचिक पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट राजी हो गया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

 

यह भी पढ़ें :  आवास अच्छा हो तो घरवाली भी अच्छा व्यवहार करती है: राजनाथ सिंह

 

कोर्ट ने सीबीआई के साथ ही तलवार दंपति के घरेलू सहायक हेमराज की पत्नी की अपील की सुनवाई साथ करने का फैसला लिया है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने गाजियाबाद की सीबीआई अदालत का 26 नवंबर 2013 को तलवार दंपति को उम्रकैद का फैसला सुनाने के फैसले को पलट दिया था और तलवार दंपति को रिहा करने के आदेश दिए थे।

आरुषि की उसके बेडरूम में हत्या कर दी गई थी। पहले इस हत्या का शक नौकर हेमराज पर था. बाद में, घर की छत पर हेमराज का शव भी पाया गया। यूपी पुलिस ने राजेश तलवार पर उसकी बेटी की हत्या का आरोप लगाया था।  

 

यह भी पढ़ें :   देश की सुरक्षा पर मंडरा रहा खतरा...देश में छिपा है आतंकी मसूद का भतीजा :...

 

राजेश तलवार को 23 मई 2008 को गिरफ्तार किया गया था। बाद में, 31 मई 2008 को सीबीआई ने इस मामले को अपने हाथ में ले लिया और शुरुआत में आरुषि के माता-पिता को बरी कर दिया, फिर बाद में दोनों को हत्याओं के लिए इन्हें दोषी ठहराया।

 

 

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी