पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के बाद इंजेक्शन देने वाला डॉक्टर गिरफ्तार

Foto

भारत के समाचार/National News


मुजफ्फरपुर।  बिहार स्थित मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड मामले में आरोपी पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के कोर्ट में सरेंडर के बाद सीबीआई को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सीबीआई ने एनजीओ की संचालिका मधु वर्मा और बालिकाओं को नशे का इजेक्शन देने वाले हैवान डॉक्टर अश्विनी कुमार को कुधनी इलाके से हिरासत में ले लिया है। 

 


बच्चों को सिखाती थी सेक्स 


खबरों के मुताबिक सीबीआई अधिकारियों से पूछताछ में एनजीओ की संचालिका ने कबूल किया है कि वह बच्चियों को सेक्स सिखाने का काम करती थी। मधु को मुजफ्फरपुर कांड के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर की बेहद ही करीबी बताया जाता है। हालांकि, आरोपी एनजीओ की संचालिका ने यह भी कहा कि बालिका गृह में क्या होता था इस बारे में उसको कोई भी जानकारी नहीं रहती थी। वहीं, मामले में आरोपी डॉक्टर अश्विनी भी सीबीआई कि गिरफ्त में आ चुका है। उससे भी पूछताछ की जा रही है।  

 


 

बुरका पहनकर सरेंडर


बताते चलें कि पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने ड्रामेबाजी के अंदाज में बुरका पहनकर ऑटो से मझौल अनुमंडल कोर्ट पहुंची और जज के सामने सरेंडर कर दिया। यहां कोर्ट ने मंत्री को 11 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। गौरतलब है कि मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर पहले ही अवैध हथियार रखने के मामले में जेल के अंदर जा चुके हैं। मंत्री के सरेंडर किए जाने के बाद सफाई देते हुए एडीजी एस. के. सिंघल ने कहा, पुलिस के दबाव में ही मंत्री ने कोर्ट में सरेंडर किया। उनकी चल अचल संपत्ति पर कानूनी कार्रवाई करते हुए पुलिस जब्त करने वाली थी। गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 29 बच्चियों के साथ रेप का खुलासा होने के बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया था। 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी