भारत-पाक बंटवारे को आज ही मिली थी मंजूरी

Foto

भारत के समाचार, India News 
     

 

नई दिल्ली। आजादी के बाद देश की सबसे दुखद घटनाओं में से एक भारत-पाक बंटवारे के प्रस्ताव को मंजूरी 1947 में आज ही के दिन यानि 14-15 जून को मिली थी। इस बंटवारे ने हजारों ही नहीं बल्कि लाखों लोगों को जो दर्द दिया उसको बता पाना आसान नहीं। कई बार तो अब भी लोगों की आंखों और जुबां पर वो दुखभर मंजर उभर जाता है तो लोग कराह उठते हैं। 

 

ये भी पढ़ें:तो ईद के बाद जम्मू-कश्मीर में खत्म होगा सीज़फायर!

 

गौरतलब है कि इस बंटवारे ने रातों-रात जहां लाखों लोगों की तकदीर बदल दी तो वहीं दूसरी तरफ हजारों लोग बेघर हो गए। अपनों से बिछड़ गए थे। इस बंटवारे ने केवल दो देशों और समुदायों के बीच ही नहीं बल्कि लोगों के दिलों में भी एक ऐसी लाइन बना दी जिससे एक दूसरे के प्रति नफरत फैला दी।

ये भी पढ़ें:हर तरह की हिंसा का जवाब सिर्फ विकास : नरेंद्र मोदी

14-15 जून को लिया गए इस फैसले की ही परिणति के रूप में आज कश्मीर में हमें देखने को मिलता है। जिसने इंसानियत को कुचल कर रख दिया है। इस घटना को आजाद की आड़ में अंग्रेजों की एक ऐसी चाल के रूप में आज भी देखा जाता है जो हिन्दुस्तान को शायद कभी न भरने वाला जख्म दे गए। 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी