बिहार के इस बाहुबली नेता को सुप्रीम कोर्ट से झटका, उम्रकैद बरकरार

Foto

 

भारत के समाचार/National News

 

नई दिल्ली। बिहार के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन की सजा बरकरार रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने तगड़ा झटका दिया है। बता दें कि शहाबुद्दीन को पटना हाईकोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी। हाईकोर्ट  के फैसले के खिलाफ शहाबुद्दीन ने उच्चतम न्यायालय में अपील किया था।

 

 

ये है पूरा मामला 

 

बताते चलें कि अगस्त 2004 के दौरान सिवान में गिरीश रोशन और सतीश की तेजाब डालकर हत्या हुई थी। 6 जून 2014 में गवाह के साथ ही मृतक गिरीश रोशन के भाई राजीव रोशन को भी गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया था। मामले में 9 दिसंबर 2015 को शहाबुद्दीन व अन्य आरोपियों को निचली अदालत ने उम्रकैद की सजा करार दी थी। इसके बाद बचाव के लिए शहाबुद्दीन ने पटना हाईकोर्ट में याचिका डाली थी। यहां भी जब राहत नहीं मिली तो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। 

 

 

नहीं दे पाया कोई जवाब

 

सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन से CJI रंजन गोगोई की बेंच ने कई सवाल पूछे, लेकिन वह कोई भी जवाब नहीं दे पाया। कोर्ट ने सवाल किया कि राजीव रोशन की हत्या जब वह कोर्ट में गवाही देने जा रहा था तो क्यों हुई? उसकी हत्या करने के पीछे कौन लोग थे? कोर्ट ने शहाबुद्दीन की अपील को खारिज करते हुए कहा कि अब वह हाईकोर्ट के निर्णय पर कोई दखल नहीं देगा। उसने जो अपनी किया है, उसमें कानूनी तथ्य नहीं है।

 

यह भी पढ़ें...सूटकेस से मिली 8 साल की बच्ची की लाश

 

यह भी पढ़ें...सिरफिरे आशिक ने लड़की के घर पर फेंका  ग्रेनेड 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी