बोरवेल में फंसे मासूम को पांचवे दिन निकाला, अस्पताल में मौत

Foto

भारत के समाचार/ india news

नई दिल्ली। पंजाब स्थित संगरूर जिले में गत 6 जून को घर के सामने खेलते समय दो वर्षीय मासूम बच्चा फतेहवीर खेत के 150 गहरे बोरवेल में गिर गया था। बच्चे को बचाने के लिए 5 दिनों से एनडीआरएफ की टीम जुटी हुई थी। रेस्क्यू ऑपरेशन पांचवे दिन सफल रहा। लेकिन अस्पताल में उपचार के दौरान बच्चे की मौत हो गई। 

बताते चलें कि मासूम बच्चे के बोरवेल में गिरने की सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई थी। किसी तरह बच्चे को गत सोमवार को बहार निकालने में टीम सफल तो हो गई। लेकिन अस्पताल में उपचार के दौरान बच्चे ने दम तोड़ दिया। बताते चलें कि बच्चे के इलाज को लेकर डॉक्टरों की टीम भी लगी हुई थी। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी रेस्क्यू ऑपरेशन के अंतिम दिन पहुंचे। उन्होंने ट्वीट करते हुए पूरे घटना पर नजर बनाए रखने की बात भी लिखी थी। 

मासूम फतेहवीर सुखविंदर सिंह की इकलौती संतान थी। सुखविंदर की शादी सात वर्ष पहले गगनदीप कौर से हुई थी। परिजनों का कहना है कि भगवान से काफी दुआएं मागने के बाद संतान सुख मिला था। इसी 12 जून को बच्चा दो वर्ष का हो जाता। लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। गत गुरुवार 6 जून की शाम फतेहवीर खेलते समय गहरे बोरवेल में गिर गया। मां की नजर बेटे पर पड़ी तो पकड़ने का प्रयास भी किया था। लेकिन बच्चे का हाथ मां सही से पकड़ नहीं पाई। इसके बाद आस पास के लोग भी इकठ्ठे हो गए और बच्चे को बचाने में जुट गए। लोग बच्चे के बच जाने को लेकर दुआएं मांगते रहे। 

यह भी पढ़ें:भाजपा सांसद ने सिपाही को जड़ा थप्पड़ केस दर्ज

यह भी पढ़ें:विजेंद्र के पुत्र की मौत की जांच सीबीसीआईडी से कराने की मांग

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी